DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रंगारंग उद्घाटन समारोह के बाद पदकों की जंग का आगाज

रंगारंग उद्घाटन समारोह के बाद पदकों की जंग का आगाज

शीतकालीन ओलंपिक खेलों के रंगारंग उद्घाटन समारोह के बाद अब रूस के इस शहर में पदकों का मुकाबला शुरू होगा।
    
राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने 22वें शीतकालीन ओलंपिक की शुरुआत का ऐलान किया। समलैंगिकता अधिकारों को लेकर रूस के रिकॉर्ड से लेकर सुरक्षा तक इन खेलों पर विवादों का साया बना रहा लेकिन अब सारा फोकस खेलों पर रहेगा।
    
पहले दिन आज पांच स्वर्ण दाव पर लगे होंगे जिसमें पहला स्वर्ण महिला क्रॉसकंट्री स्कीयाथलन में जीता जाएगा। नॉर्वे के बायथलीट ओले एनार बोएर्नाडालेन अगर यह जीत जाते है तो वह सबसे सफल शीतकालीन ओलंपियन बन जायेंगे।
    
करीब 40000 की क्षमता वाले फिश्ट स्टेडियम में इन खेलों की शुरुआत तकनीकी गड़बड़ी के साथ हुई जब ओलंपिक रिंग में बदलने वाले पांच कत्रिम हिमकणों में से एक मंच पर था ही नहीं जिससे चार रिंग से ही काम चलाना पड़ा।
      
इसके बाद कार्यक्रम हालांकि बेहद दर्शनीय रहा जिससे दुनिया भर के लाखों लोगों को रूस के इतिहास और संस्कृति की झलक एक युवती ल्युबोव ने दिखाई।
      
ओलंपिक कुंड को दो बार की तिहरी स्वर्ण पदक विजेता सोवियत शीतकालीन ओलंपियन स्केटर इरिना रोडनिना और आइस हॉकी धुरंधर व्लादीस्लाव त्रेतयाक ने प्रज्जवलित किया। रूसी टेनिस स्टार मारिया शारापोवा मशाल को स्टेडियम के भीतर लेकर आई थी औश्र आखिरी रिले में ओलंपिक लयबद्ध जिम्नास्टिक चैम्पियन एलिना काबायेवा ने भी भाग लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रंगारंग उद्घाटन समारोह के बाद पदकों की जंग का आगाज