DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेनर ही अयोग्य तो फिर पहलवानों का क्या होगा :

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। जदयू ने शुक्रवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के उस वक्तव्य पर निशाना साधा, जिसमें उन्होंने गुरुवार को यह कहा था कि वह अखाड़े में नहीं है। जदयू ने कहा कि इससे क्या हुआ, उसके अखाड़े के पहलवान इस बार चुनाव लड़ेंगे। जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि जिस अखाड़े का ट्रेनर ही अयोग्य हो तो फिर उसके पहलवानों का क्या होगा? जनता को बरगला नहीं सकते लालू।

श्री सिंह ने कहा कि राजद सुप्रीमो यह क्यों नहीं ट्विट करते कि उनके घोटाले को सच मानकर न्यायालय ने यह व्यवस्था कर दी है कि वह चुनाव लड़ ही नहीं सकते। अयोग्य करार कर दिए जाने के बाद भी बिहार में जंगल राज के प्रणेता लालू प्रसाद फिर से सत्ता में वापसी के सपने देख रहे हैं।

जनता लालू प्रसाद के कृत्यों की सजा भुगत चुकी है। उन्होंने बिहार को सामाजिक विद्वेष की आग में झोंका। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि घोटाले में जेल गए लालू जब से जमानत पर बाहर हुए हैं तब से ऐसा कर रहे हैं जैसे कि वह स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई से वापस लौटे हैं।

राजद सुप्रीमो में अगर साहस है तो यह क्यों नहीं ट्विट करते कि किस घोटाले के चलते उन्हें जेल जाना पड़ा। यह तय है कि इस बार के चुनाव में जनता बिहार में हो रहे काम पर अपना फैसला सुनाएगी। इस बात का एहसास भी है लालू प्रसाद को। यही वजह है कि बेचैनी में लोगों का ध्यान बांटने के लिए भिन्न-भिन्न किस्म के ट्विट कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेनर ही अयोग्य तो फिर पहलवानों का क्या होगा :