DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू प्रत्याशियों का एलान 16 के बाद : वशिष्ठ

जदयू प्रत्याशियों का एलान 16 के बाद : वशिष्ठ

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। जदयू 16 फरवरी के बाद किसी भी दिन लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों का ऐलान कर सकता है। शाहाबाद प्रक्षेत्र में सक्रिय भाजपा नेता श्यामलाल कुशवाहा के जदयू में शामिल कराने के बाद शुक्रवार को पार्टी प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने यह बात कही।

पिछला लोकसभा चुनाव श्री कुशवाहा ने बक्सर सीट से बसपा के टिकट पर लड़ा था और पांच हजार वोट से हार गए थे। इस बात की संभावना है कि जदयू उन्हें बक्सर से अपना प्रत्याशी बनाए। भागलपुर की शबाना दाउद भी इस मौके पर जदयू में शामिल हुईं।

शिवानंद को ऑफर थाजदयू प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी ने पूर्व में बक्सर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए शविानंद तिवारी को ऑफर दिया था। उनके इनकार के बाद इस सीट को छोड़ा थोड़े जा सकता था।

पार्टी अपने स्तर से इस सीट के प्रत्याशी के लिए मंथन कर रही है। उन्होंने कहा कि श्यामलाल कुशवाहा शाहाबाद प्रक्षेत्र में इस हद तक सक्रिय हैं कि वह तीन सीटों में से किसी पर भी चुनाव लड़ें, तो जीत सकते हैं।

सोलह तारीख को पटना के दीदारगंज में होने वाली संकल्प रैली के बाद जदयू अपने प्रत्याशियों के नाम तय करने शुरू कर देगी। चार-पांच दिनों के भीतर सारे नाम तय कर उसके एलान कर दिए जाएंगे। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि उम्मीद करते हैं कि भाकपा के साथ पार्टी का समझौता हो जाएगा।

परवीन अमानुल्लाह के आप में शामिल होने पर वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि किसी को बांध कर नहीं रखा जा सकता। वैसे बिहार में अरविंद केजरीवाल कोई फैक्टर नहीं हैं। बिहार को दिल्ली से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। इस मौके पर जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद आरसीपी सिन्हा व जदयू विधान पार्षद और पार्टी के प्रवक्ता संजय सिंह भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जदयू प्रत्याशियों का एलान 16 के बाद : वशिष्ठ