DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी पर्यटकों की सुरक्षा के लिए नहीं खास इंतजाम

चकबथानी। निज संवाददाता। अनुमंडल के ऐतिहासिक स्थल जेठियन, बुद्धवन और तपोवन आने वाले विदेशी पर्यटकों की सुरक्षा राम भरोसे है। इन जगहों पर सरकारी स्तर पर कोई सुरक्षा की व्यवस्था की गई है जिसके चलते अप्रिय घटना हो जाने की संभावना बनी रहती है। पुलिस पदाधिकारियों की कमी झेल रहे स्थानीय थाना भी इस मामले में उदासीन है।

हरेक साल इन जगहों पर काफी संख्या में थाईलैंड, जापान, कोरिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, श्रीलंका, फ्रांस और तबि्बत आदि देशों से पर्यटक आते हैं। जेठियन के भगवान बुद्ध ग्राम विकास समिति के अनुसार वर्ष 2013 में विभिन्न देशों के करीब 18 सौ से अधिक (आगंतुक पंजी में दर्ज) विदेशी पर्यटक यहां आये।

पर्यटकों ने यहां सुपत्य चैत (बुद्ध मंडप), यशोधरा स्थान, राजा पिंडा (असुर गुफा) और हाईस्कूल परिसर का अवलोकन किया। बुद्ध मंडप के केयर टेकर सत्येन्द्र सिंह ने बताया कि यहां वैसे भी पर्यटक पहुंचे जिनका नाम किसी कारण से रजिस्टर में दर्ज नहीं हो सका है।

इस स्थल पर सैंकड़ो पर्यटकों ने खुले आसमान के नीचे और बिना किसी सुरक्षा व्यवस्था के रात्रि वशि्राम किया। वहीं पास के बुद्धवन और तपोवन में सैंकड़ो पर्यटक पहुंचे। ऐर गांव के स्थानीय बुद्ध समिति से जुड़े ग्रामीण विजय सिंह ने बताते हैं कि कुछ पर्यटक स्थानीय लोगों को बगैर सूचना दिये ही पहाड़ पर चले जाते हैं। यह सुरक्षा के लिहाज से ठीक नहीं है। गत वर्ष राजगीर से भिंडस-चमण्डीह रोड होकर जाने वाली पर्यटकों वाहनों को कई जगहों पर रोककर रंगदारी की मांग की गई थी।

स्थानीय ग्रामीणों ने पर्यटकों की सुरक्षा के मद्देनजर जेठियन में पुलिस कैंप खोलने की मांग वरीय अधिकारियों से की है। जेठियन में पहले कई वर्षो तक टीओपी था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशी पर्यटकों की सुरक्षा के लिए नहीं खास इंतजाम