DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेलर को सस्पेंड करने की डीएम ने की अनुशंसा

आरा। निज प्रतिनिधि। रिमांड होम से 11 किशोरों के भागने के मामले में तत्कालीन अधीक्षक के खिलाफ हुई सस्पेंशन की अनुशंसा के बाद अब जेलर पर गाज गिर सकती है। इसको लेकर जेलर के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गई है। इस मामले में डीएम पंकज कुमार पाल ने रिमांड होम के जेलर शशि शर्मा को सस्पेंड करने की अनुशंसा कर दी है। इसके पहले कार्य में लापरवाही व अनुशासनहीनता बरतने को लेकर जेलर के खिलाफ आपराधिक मुकदमा भी दर्ज किया जा चुका है।

गौरतलब है कि गत मंगलवार की रात धनुपरा स्थित रिमांड होम का ग्रिल काटकर 11 किशोर भाग खड़े हुये थे। हालांकि महज 24 घंटे के अंदर ही पुलिस ने पूर्वी गुमटी के पास से तीन किशोरों को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि एक किशोर बुधवार की शाम स्वयं लौट आया था।

इस मामले को जिला प्रशासन ने काफी गंभीरता से लिया है और रिमांड होम के अधिकारियों के खिलाफ कारवाई शुरू कर दी गई है। इस मामले में पहले रिमांड होम के अधीक्षक शेखर चौहान को हटाते हुये उनको सस्पेंड करने के लिए प्रपत्र क का गठन कर विभाग को भेज दिया गया था और अब उसके बाद जेलर को सस्पेंड करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई।

इसके अलावा डीएम ने रिमांड होम की चहारदिवारी के निर्माण कराने सहित अन्य मामलों को लेकर सरकार को अपना मंतव्य भेजा है। बता दें कि धनुपरा स्थित रिमांड होम में भोजपुर, बक्सर, रोहतास और कैमूर जिले के करीब 40 किशोर बंद हैं। सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त नहीं होने के कारण अक्सर ही किशोरों के भागने का मामला सामने आता रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेलर को सस्पेंड करने की डीएम ने की अनुशंसा