DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बस खरीद घोटाले में हो सकती है शीला पर जांच

नई दिल्ली। समरजीत सिंह।  दिल्ली सरकार अब डीटीसी बस खरीद घोटाले मामले में पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के खिलाफ जांच कराने की तैयारी कर रही है। इस मामले को लेकर दिल्ली सरकार शीला दीक्षित के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एफआईआर कैग की उस रिपोर्ट पर आधारित होगी जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री पर वर्ष 2004 से 2009 के बीच खरीदे गए तीन हजार से ज्यादा बसों को उनकी वास्तविक कीमत से ज्यादा कीमत पर खरीदने की बात कही गई थी।

आम आदमी पार्टी के सूत्रों के अनुसार दिल्ली सरकार अगले कुछ दिनों में एफआईआर दर्ज करा सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एफआईआर में इस समय सीमा में खरीदी गई बसों के रखरखाव के लिए संबंधित निजी कंपनी पर कार्रवाई न करने को भी वजह बनाया जा सकता है। दरअसल, उस समय की सरकार ने इन नए बसों के रखरखाव के लिए कुछ निजी कंपनियों को ठेका दिया था। लेकिन इसके ठेके के बावजूद भी बसों की स्थिति खस्ता हुई और सरकार द्वारा संबंधित कंपनियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।

कैग रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2004 से 2009 के बीच डीटीसी की तीन हजार से ज्यादा लो-फ्लोर बसें खरीदी गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली सरकार ने नॉन एसी बसों की वास्तविक कीमत 42.92 लाख रुपये की जगह इन्हें 51.89 लाख रुपये में खरीदा जबकि सरकार द्वारा 50.56 लाख रुपये की एसी बसों के लिए संबंधित कंपनी को 61.62 लाख रुपये का भुगतान किया गया। कैग ने भी उस समय की मौजूदा सरकार के इस सौदे पर सवाल खड़े किए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बस खरीद घोटाले में हो सकती है शीला पर जांच