DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हक के लिए आशाओं ने सीचसी घेरा

उरुवा। सीएचसी रामनगर के अधीन कार्य करने वाली आशाओं ने अपने हक के लिए शुक्रवार को दोपहर जमकर हंगामा किया। काफी देर के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों के आश्वासन पर आशाएं मान गई। सीएचसी रामनगर में कार्य करने वाली आशा बंदना दूवे, सीमा तिवारी, उर्मिला सिंह, कुंती सिंह, मिथिलेश, आरती गुप्ता, सुषमा देवी, राजकुमारी, सावित्री, संगीता शुक्ला, सोनी, समसीदा बानो, छाया देवी, सरस्वती, शविलली, गुडिया बेगम, सहित कई ने बताया कि उन्हें जब भी मीटिंग में बुलाया जाता है, यात्रा भत्ता नहीं दिया जाता।

सुबह दस बजे से चार बजे तक होने वाले प्रशिक्षण में केवल विस्कुट देकर नाश्ते का कोरम पूर्ण कर लिया जाता है। गर्भवती महिला के प्रसव होने पर छह सौ रुपए दिया जाना चाहिए इसके एवज में तीन सौ रुपया ही दिया जाता है। जो ठीक नहीं है। इस बारे में अधीक्षक शैलेश द्वविेदी ने बताया कि डिलवरी के पहले जो आशा गर्भवती महिलाओं को दो टिटनेश का टीका लगवाने पहुंचती है, उन्हें छह सौ रुपया दिया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हक के लिए आशाओं ने सीचसी घेरा