DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ल्हासा में आेलम्पिक मशाल के खिलाफ रैली

चीन द्वारा तिब्बत के ल्हासा क्षेत्र में आेलंपिक मशाल ले जाने के खिलाफ तिब्बती शरणार्थियो ने शनिवार को रैली निकाली और मानवाधिकारो की रक्षा के उसके दावों को गलत बताया। तिब्बती युवा कांग्रेस तिब्बती वुमैन्स एसोसिएशन तथा तिब्बती नेशनल डेमोक्रेटिक पार्टी के देहरादून की इकाई ने रैली निकाली। तिब्बती नेता लाकपादोरजी ईशीथरजीन ने रैली में कहा कि हमारा प्रयास है कि हम विश्व को बताएं कि चीन ओलंपिक खेलों की मेजबानी के लायक नहीं है, क्योकि मानवाधिकारों की रक्षा से संब्ांधित उसका वायदा झूठा है। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण विश्व ने तिब्बत में चीन की हिंसक कार्रवाई देखी है। उन्होंने कहा कि कम्युनिस्ट चीनी सरकार तिब्बत के स्वायत्तशासी क्षेत्रो में आेलंपिक मशाल ले जाने का नैतिक अधिकार खो चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ल्हासा में आेलम्पिक मशाल के खिलाफ रैली