DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीईओ सत्या

माइक्रोसॉफ्ट के नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में सत्या नडेला की नियुक्ति निश्चित रूप से उन्हें एक बड़ा अवसर प्रदान करती है। पूर्व में वह अपनी क्षमताओं को प्रमाणित कर चुके हैं। माइक्रोसॉफ्ट के साथ उनका जुड़ाव विंडोज 3.1 के दौर से है। कंपनी की क्लाउंड व इंटरप्राइज डिविजन का उनका नेतृत्व सराहनीय रहा। नडेला टेक्नोलॉजी के बाहर की दुनिया के लिए अनजान नाम हैं, किंतु माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के अंदर सीईओ पद के लिए वह सबसे सशक्त व लोकप्रिय पसंद थे। इस पद के लिए लंबे समय से एक कॉरपोरेट शख्सियत की तलाश हो रही थी और इस नियुक्ति के बाद कर्मचारी उत्साहित होंगे। कुछ तनी भौहें सवाल करती हैं कि क्या नडेला वह सीईओ हैं, जो कंपनी को बंद संस्कृति के कामकाज और कारोबार से बाहर ला पाएंगे? कंपनी के सामथ्र्य की जानकारी नडेला के पास जरूर होगी। इससे यह उम्मीद बंधती है कि वह उसका इस्तेमाल करके कंपनी को आगे ले जाने का प्रयास करेंगे। उनसे बेहतर कौन जानता होगा कि क्या करना है, बेहतरीन सुझावों को कैसे आगे बढ़ाना है तथा कंपनी को क्या जरूरी मदद चाहिए?

इसमें दो राय नहीं कि माइक्रोसॉफ्ट और इसके संस्थापकों ने हर घर में, हर डेस्क पर पर्सनल कंप्यूटर रखने में मदद की। लेकिन इस कंपनी के सामने तकनीकी और कारोबारी चुनौती यह है कि वह नई पीढ़ी के मोबाइल और टेबलेट उपभोक्ताओं से तालमेल बिठाए। इसके अलावा, वह सॉफ्टवेयर व क्लाउंड-सेवा के जरिये अपने कारोबार को नई ऊंचाई पर ले जाए। नेडला की सबसे बड़ी मजबूती उनकी तकनीकी समझ या कारोबारी अनुभव या दूसरों को मौका देने की विनम्र क्षमता हो सकती है या इन तीनों गुणों का मेल भी। माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनी को, जिसकी वैश्विक पहचान व पहुंच है, चलाने का मतलब है कि दूसरों पर भरोसा करना। पर इसका मतलब यह भी है कि दूसरों को सुनना और उद्योग को बढ़ाने की चुनौती को स्वीकार करना। माइक्रोसॉफ्ट अमेरिका का वह अग्रणी कॉरपोरेट कंपनी है, जो एशियाई अमेरिकी व्यक्ति को सीईओ बनाती है व अफ्रीकी अमेरिकी शख्स की अध्यक्षता स्वीकार करती है। नेतृत्व के स्तर पर बड़ी अमेरिकी कंपनियों में ऐसी विविधता दुर्लभ है।

द सीटेल टाइम्स, अमेरिका

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीईओ सत्या