DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिल्म रिव्यू: या रब

फिल्म रिव्यू: या रब

बिग बॉस 7 से सुर्खियों में आये एजाज खान के शब्दों में कहें तो फिल्म ‘या रब’ जेहाद पर बनी अब तक की सबसे बढ़िया फिल्म है। उनकी इस बात में केवल इस वजह से दम दिखता है कि वो इस फिल्म के हीरो हैं, क्योंकि जहां तक फिल्म के बढ़िया-घटिया होने का सवाल है तो वह इस फिल्म के महज 10-15 मिनटों में साफ हो जाता है कि आगे क्या होने वाला है। और फिर याद आती है उन फिल्मों की, जिनमें जेहाद के नाम पर फैल रहे आतंकवाद का सही चेहरा दिखाने की नीयत दिखाई दी थी। मसलन, करण जौहर की ‘माई नेम इज खान’, शोएब मंसूर की पाकिस्तानी फिल्म ‘खुदा के लिए’ और काफी हद तक जग मूंदड़ा की फिल्म ‘शूट ऑन साइट’। ‘या रब’ में कुछ भी नया नहीं है।

एक मौलाना जिलानी (अखिलेन्द्र मिश्रा) है, जो जेहाद के नाम पर युवाओं को खून-खराबे के लिए उकसाता रहता है। उसकी एक बेटी है अमरीन (अर्जुमन मुगल), जिसकी शादी इमरान (विक्रम सिंह) से हुई है। अमरीन गर्भवती है और एक दिन वो एक शॉपिंग माल जाती है, जहां एक बम धमाका होता है। बस यहीं से कहानी में उबाल आने लगता है। मामले की तहकीकात का जिम्मा आता है एंटी टेरेरिस्ट ऑफिसर रणविजय (एजाज खान) के पास। पूरे मामले में एक पत्रकार भी है, जो रणविजय की मदद करती है। इसके बाद कहानी पूरे फिल्मी स्टाइल में आगे बढ़ती है और जिस मंशा से फिल्म की शुरुआत हुई थी, वो सिनेमा हॉल के किसी कोने में दफन-सी होने लगती है। ये भी माना जा सकता है कि अगर एजाज खान बिग बॉस 7 के अंतिम तीन में न आये होते तो शायद ये फिल्म रिलीज ही न होती। और अंत में ये भी लगता है कि हमारे यहां अब भी लोगों के सिर पर एक बुरी फिल्म बनाना किसी जुनून की तरह सवार है।

सितारे: एजाज खान, अखिलेन्द्र मिश्रा, अर्जुमन मुगल, राजू खेर, विक्रम सिंह, एस. एम. जहीर
निर्देशक: हसनैन हैदराबादवाला
निर्माता: मोहसिन अली खान, मीसम अली खान, हूरी अली खान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिल्म रिव्यू: या रब