DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आवेदन फॉर्म रद्द हुआ तो स्कूलों से पूछें कारण

नर्सरी दाखिले का पंजीकरण खत्म हो गया है। अब स्कूलों द्वारा मेरिट सूची तैयार करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। गुरुवार को कई स्कूलों ने साइट पर आवेदन खारिज होने की जानकारी भी डाली। यदि आपका फॉर्म खारिज होता है तो स्कूलों द्वारा खारिज किए जाने का कारण पूछा जा सकता है। कारण सूची जारी होने के बाद बताया जाएगा।

शिक्षा निदेशक पद्मिनी सिंघला कहती हैं कि आवेदन फॉर्म कई तकनीकी कारणों से खारिज भी हो सकते हैं। मेरिट सूची 28 फरवरी को आएगी। यदि किसी अभिभावक के बच्चे का उसमें नाम नहीं आता है तो उसके दो कारण होंगे। पहला, प्वाइंट कम मिलने से दौड़ में पिछड़ना। दूसरा, किसी कारण फॉर्म खारिज हो जाना। अगर फॉर्म खारिज होता है तो स्कूलों द्वारा अभिभावकों को उसका कारण बताना होगा। कोई भी स्कूल इस बाबत इनकार नहीं कर सकते हैं।

वहीं डीपीएस आरकेपुरम के प्रिंसिपल डीआर सैनी कहते हैं कि अभिभावकों को चाहिए कि वे रोजाना साइट्स पर जाएं। वहां से जानकारी जुटाएं कि मेरिट में नाम आने की स्थिति में कौन से दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। अभिभावक एडमिशन के लिए आवश्यक सारे दस्तावेज तैयार करने से दाखिले में दिक्क्त नहीं होगी।

पहले भी आ सकती है सूची
वैसे तो 28 फरवरी को पहली सूची जारी होनी है लेकिन स्कूल संघ के सचिव विपुल भारद्वाज का कहना है कि अधिकतर स्कूल मेरिट बनते ही उसे जारी कर देंगे। वे 28 फरवरी का इंतजार नहीं करेगें। ऐसे में अभिभावकों को रोजाना स्कूलों की वेबसाइट्स पर जाना चाहिए। वहीं निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि स्कूलों को एक ही दिन सूची जारी करनी होगी। कोई भी स्कूल खुद से तिथि तय नहीं कर सकता है।

गुरुवार को भी पंजीकरण
डीपीएस जैसे कई स्कूलों ने गुरुवार को भी पंजीकरण की प्रक्रिया जारी रखी। प्रक्रिया ऑनलाइन रही। इससे उन अभिभावकों को फायदा हुआ जो किसी कारणवश पंजीकरण नहीं करा सके थे। माना जा रहा है कि स्कूलों द्वारा एक दिन अतिरिक्त दिए जाने से दाखिले की प्रक्रिया पर असर पड़ेगा। मुकाबला और भी ज्यादा कड़ा होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आवेदन फॉर्म रद्द हुआ तो स्कूलों से पूछें कारण