DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिछड़ने के बाद लय हासिल करना मुश्किल होता है : गंभीर

पिछड़ने के बाद लय हासिल करना मुश्किल होता है : गंभीर

भारत को हाल में न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज़ में सबसे करारी शिकस्त झेलनी पड़ी और टीम से बाहर चल रहे बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा कि दौरे की शुरुआत अच्छी तरह करना महत्वपूर्ण होता है क्योंकि पिछड़ने के बाद लय हासिल करना मुश्किल हो जाता है।
    
गंभीर ने कहा कि एक चीज निश्चित है कि जब हम विदेशों की यात्रा करते हैं, भले ही यह दक्षिण अफ्रीका हो या न्यूजीलैंड, दौरे की अच्छी शुरुआत करना अहम होता है क्योंकि इससे आपकी लय बन जाती है।
    
गंभीर शेष भारत टीम का हिस्सा हैं जो नौ फरवरी से बेंगलूरू में ईरानी कप में रणजी ट्रॉफी चैम्पियन कर्नाटक से भिड़ेगी। उन्होंने यहां एक कार्यक्रम के मौके पर कहा, एक बार आप इससे चूक जाते हो तो लय में वापसी करना मुश्किल हो जाता है।
    
न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत के निराशाजनक वनडे अभियान के बारे में गंभीर ने कहा कि किवी टीम ने पहले दो मैच जीतकर अच्छी शुरुआत की और इसके बाद से भारतीय टीम पिछड़ती रही।
    
भारत के लिए 147 वनडे खेलने वाले इस अनुभवी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि आप ऐसे हालात में नहीं पड़ना चाहते, जब आप पिछड़ रहे होते हो, आपको प्रतिद्वंद्वी टीम से आगे होना चाहिए। भारतीय क्रिकेट टीम को न्यूजीलैंड से वनडे सीरीज़ में 0-4 से शिकस्त मिली, जो उससे रैंकिंग में सात पायदान नीचे है।
     
दिल्ली के 32 वर्षीय खिलाड़ी ने हालांकि कहा कि टेस्ट वैसे अलग तरह का मैच होता है और भारत इसमें लय हासिल कर सकता है।

वर्ष 2009 में न्यूजीलैंड के दौरे में गंभीर ने शानदार प्रदर्शन किया था, उन्होंने कहा, ऐसा समय भी होता है जब उम्मीदें बढ़ जाती हैं। यह मेरा पहला दौरा था और मेरे बारे में बात चल रही थी कि मैं दबाव से कैसे उबर पाउंगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट ज्यादातर मानसिक मजबूती के बारे में होता है।
     
ईरानी ट्रॉफी के बारे में उन्होंने कहा कि यह एक बड़ा मैच होगा। उन्होंने कहा कि मैं इन चीजों को अलग तरह से नहीं देखता। यह उतना ही महत्वपूर्ण है भले ही मैं प्रथम श्रेणी या अन्य क्रिकेट खेल रहा हूं, मैं हमेशा इसे अन्य मैचों की तरह ही खेलूंगा।
     
गंभीर ने कहा कि वह अपने आलोचकों की अनदेखी करने को ही तरजीह देते हैं। उन्होंने कहा कि आप अपना गेम जानते हो और कई लोग आपको नहीं जानते और बयान देने से पहले उन्होंने आपको नहीं देखा होता। एक खिलाड़ी अच्छे फॉर्म में हो सकता है लेकिन रन नहीं बनते, इसी तरह इसके उलट भी। लेकिन एक खिलाड़ी जानता है कि वह गेंद सही से खेल पा रहा है या नहीं। यह क्रीज पर टिकने की बात है। वैसे भी हर कोई हर समय एक सा प्रदर्शन नहीं कर सकता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पिछड़ने के बाद लय हासिल करना मुश्किल होता है : गंभीर