DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बम फोड़ने वाले पांच छात्र को जेल

वरीय संवाददाता, पटना। बुधवार की रात मूर्ति विसर्जन के दौरान पटना कॉलेज से एनआईटी मोड़ तक उत्पात मचाने वाले पांच छात्रों को गुरुवार को पुलिस ने जेल भेज दिया। इनमें फाइनल ईयर के सुधांशु कुमार झा, ज्ञान प्रकाश, राकेश कुमार व राहुल प्रताप सिंह और विक्रम कुमार (तीसरा साल ) शामिल हैं।

सभी छात्र एनआईटी के हैं। उपद्रव मचाने, बमबाजी व पुलिस पर हमला करने को लेकर पीरबहोर थाने में दो प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने अपने बयान पर एनआईटी के 19 छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

वहीं एनआईटी के घायल छात्रों के बयान पर मिंटो हॉस्टल के छह नामजद सहित चार दर्जन से अधिक छात्रों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। बुधवार की रात पुलिस ने तीन दर्जन से अधिक छात्रों को हिरासत में लिया था।

इनमें से पांच को छोड़ कर बाकी को पुलिस ने निजी मुचलके पर छोड़ दिया। जिन छात्रों को जेल भेजा गया है, उनकी सीसीटीवी फुटेज में सड़क पर उत्पात मचाते, पुलिस पर हमला व तोड़फोड़ करने की तस्वीरें आई हैं।

एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक उपद्रवी छात्रों के खिलाफ भादवि की विभिन्न धाराओं के साथ विस्फोटक अधिनियम के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। उपद्रव मचाने वाले पांच छात्रों को जेल भेज दिया गया। अन्य छात्रों की पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार की जा रही है।

खूनी संघर्ष में दर्जन भर छात्र हुए थे घायल मिंटो व एनआईटी के छात्रों के बीच बुधवार की रात हुए खूनी संघर्ष में दर्जनभर से अधिक छात्र घायल हो गए थे। आपसी रंजशि व वर्चस्व को लेकर छात्रों के दोनों गुट ने एनआईटी मोड़ के पास उत्पात मचाया था। दोनों ओर से हॉकी स्टिक, लाठी-डंडे चलाने के साथ बम भी फोड़े गए थे। हमले में आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई थीं। जुलूस में मौजूद रहे छात्रों ने बताया कि एनआईटी के छात्र जुलूस में पटाखा छोड़ रहे थे।

तभी मिंटो हॉस्टल के छात्र वहां पहुंचे और पटाखे को लात मार कर ट्रैक्टर के नीचे फेंक दिया। ट्रैक्टर के नीचे पटाखा जाते ही चालक व उस पर सवार सभी छात्र मूर्ति छोड़ कर नीचे कूद गए। इसके बाद दोनों गुटों के बीच तीन घंटों तक खूनी खेल चलता रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बम फोड़ने वाले पांच छात्र को जेल