DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की उच्चस्तरीय समीक्षा

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। भ्रष्टाचार के खिलाफ राज्य सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति के तहत कार्रवाई को लेकर मुख्य सचवि अशोक कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में गुरुवार को उच्च स्तरीय बैठक हुई। बैठक में भ्रष्टाचार के आरोपी अधिकारियों व कर्मियों के खिलाफ जारी कार्रवाई की प्रगति की समीक्षा की गई।

बैठक में नगिरानी ब्यूरो व पुलिस मुख्यालय द्वारा रंगे हाथ रशि्वत लेते हुए ट्रैप किये गये सरकारी कर्मियों के निलंबन व बर्खास्तगी को लेकर शुरू की गयी विभागीय कार्रवाई को तेज करने को लेकर चर्चा की गयी।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार बैठक में सामान्य प्रशासन विभाग, गृह विभाग एवं नगिरानी ब्यूरो द्वारा शुरू की गयी कार्रवाई की मुख्य सचवि ने जानकारी प्राप्त की। रशि्वत लेते रंगे हाथ ट्रैप किये गये कर्मी पर गिरेगी गाज सूत्रों ने बताया कि रिश्वत लेते हुए ट्रैप किये गये सरकारी कर्मियों को तत्काल निलंबन व बर्खास्तगी का सामना करना होगा।

विभागीय कार्रवाई की प्रक्रिया को आसान बनाया जायेगा। राज्य सरकार ने इस संबंध में कड़े रुख अपनाने का निर्णय किया है। जिला स्तर पर भी ऐसे कर्मियों को चिन्हित करते हुए कार्रवाई की जायेगी।

बैठक में सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचवि धर्मेंद्र सिंह गंगवार, गृह विभाग के प्रधान सचवि आमीर सुबहानी, पुलिस महानिदेशक, बिहार अभयानंद, नगिरानी ब्यूरो के महानिदेशक पीके ठाकुर शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की उच्चस्तरीय समीक्षा