DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उलटी दिशा में दौड़ी मालदा पटना एक्सप्रेस, पहिया उतरा

कार्यालय संवाददाता पटना। गुरुवार को पटना जंक्शन पर मालदा-पटना एक्सप्रेस की पिछली दो बोगियों का पहिया पटरी से उतर गया। सुबह लगभग 7.10 बजे ट्रेन के उल्टी दिशा में दौड़ने के चलते यह घटना हुई।

इस कारण चार घंटे तक प्लेटफॉर्म नंबर सात व आठ पर ट्रेनों की आवाजाही बाधित रही। पहिया गिरने से दर्जनों स्लीपर दरक गए। संयोग था कि उस वक्त ट्रेन में कोई पैसेंजर नहीं बैठा था।

घटना के बाद रेल मंडल के एडीआरएम बीके सिंह मौके पर पहुंचे, लेकिन रेलवे प्रशासन की लापरवाही साफ दिखी। कंट्रोल रूम को घटना की सूचना सुबह 7.30 बजे दे दी गई, मगर रिलीफ वैन लगभग दो घंटे बाद पहुंचा। इसके बाद जैक के सहारे गिरे हुए पहियों को पटरियों पर चढ़ाया गया।

मंडल के कार्यकारी डीआरएम आरआर झा ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। कारण पूछते ही बेहोश हुआ शंट मैनरेलवे सूत्रों के अनुसार शुरुआती जांच में शंट मैन और शंटिंग स्टाफ (शंटर) की लापरवाही सामने आई है। दोनों का निलंबन तय माना जा रहा है।

मौके पर पहुंचे डीआरएम ने शंट मैन बिरजू सिंह से पूछताछ शुरू की, तो वह बेहोश होकर गिर पड़ा। बताया गया कि ट्रेन को शंटिंग यार्ड में (हावड़ा की ओर) ले जाने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन ट्रेन विपरीत दिशा में दौड़ा दी गई।

लाइन और प्वाइंट न बन पाने से ट्रेन के पीछे की दो बोगियों का पहिया पटरी से उतर गया। दुर्घटना से होश उड़े अफसरों केपटना जंक्शन पर सुबह के वक्त ट्रेन की पिछली दो बोगियों के पहिए का उतरना रेलवे की बड़ी लापरवाही मानी जा रही है। जिस समय यह घटना हुई, वह डाउन लाइन की ट्रेनों के आने का पीक आवर माना जाता है। ऐसे में विपरीत दिशा में दौड़ रही मालदा-पटना एक्सप्रेस से कोई भी ट्रेन टकरा सकती थी।

वहीं, रेलवे कर्मियों की लापरवाही भी इससे उजागर हो गई है। इसलिए गुरुवार की घटना ने रेल सेफ्टी को लेकर रेलवे के अधिकारियों के होश उड़ा दिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उलटी दिशा में दौड़ी मालदा पटना एक्सप्रेस, पहिया उतरा