अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शान से सेमीफचचाइनल में पहंचा तुकचर्ची

तुर्की ने यूरो कप फुटबॉल टूर्नामेंट के सांसें थाम देने वाले रोमांचक क्वार्टर फाइनल मुकाबले में शुक्रवार को क्रोएशिया को पेनल्टी शूटआउट में 3-1 से हरा दिया। इस शानदार जीत से तुर्की ने सेमीफाइनल में जगह बना ली। निर्धारित समय तक दोनों टीमों द्वारा कोई गोल नहीं कर पाने के बाद नतीजा निकालने के लिए दिए गए अतिरिक्त समय में खेल बेहद नाटकीय रहा। पहले 15 मिनट में दोनों टीमें एक बार फिर कोई गोल नहीं कर सकीं। इसके बाद फिर दिए गए 15 मिनट के अतिरिक्त समय के अंतिम क्षणों में क्रोएशिया ने पहला गोल किया। इसके एक मिनट बाद ही तुर्की ने एक गोल दागकर खुद को बराबरी पर ला खड़ा किया। पेच में फंसे मैच में नतीजा निकालने के लिए पेनल्टी शूटआउट कर सहारा लिया गया। रोंगटे खड़े कर देने वाले खेल के इस हिस्से में दो गोल करके तुर्की क्रोएशिया को स्तब्ध कर सेमीफाइनल में पहुंच गया। चेक गणराज्य के खिलाफ अपने अंतिम ग्रुप मैच में 0-2 से पिछड़ने के बाद अंतिम समय में गोल दागकर सनसनीखेज ढंग से 3-2 से जीत हासिल करके ‘कम बैक किंग’ के नाम से विख्यात हो चुके तुर्की का सेमीफाइनल में जर्मनी से मुकाबला होगा। जिसने पुर्तगाल को 3-2 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई थी। जोरदार मुकाबले में पहला गोल अतिरिक्त समय में क्रोएशिया के इवान क्लासनिक ने किया। मगर सेमिह सेनतुर्क के गोल ने तुर्की को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। इसके बाद हुए पेनल्टी शूटआउट में क्रोएशिया के लुका मोडरिक और इवान राकिटिक निशाना चूक गए। तुर्की के अरदा तुरन, सेमिह सेनतुर्क तथा हामित अलतिनतोप अपनी-अपनी किक को गोल में तब्दील करने में कामयाब रहे और अपनी टीम को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया। इस मैच में अपने कई चोटिल खिलाड़ियों की सेवाओं से महरूम होकर उतरी तुर्की के खिलाफ क्रोएशिया से कई गलतियां भी हुईं और उसके खिलाड़ी मिले मौकों को गोल में बदलने में नाकाम रहे। मैच के 1वें मिनट में क्रोएशिया के मोडरिक द्वारा दिए गए पास पर स्ट्राइकर इविका ओलिक निशाना चूक गए। दूसरे हाफ में क्रोएशिया को गोल करने का एक और मौका मिला मगर ओलिक गोखन जान के हेडर को गोल में तब्दील नहीं कर सके। प्रतिद्वंद्वी की गलतियों का फायदा उठाते हुए तुर्की मैच को अतिरिक्त समय तक ले जाने में कामयाब रहा। शूटआउट में अरदा तुरन तथा हामित अलतिनतोप ने गोल दागकर तुर्की को एक और यादगार जीत दिला दी। जीत के बाद हामित ने कहा, ‘यह पल वाकई सपने जैसा है। अगर हमने खुद पर विश्वास कायम रखकर ऐसा ही प्रदर्शन जारी रखा तो हमें कोई नहीं रोक सकेगा। मैच के अंतिम क्षण तक दबावमुक्त रहना हमारे लिए फायदेमंद साबित हुआ।’ उधर क्रोएशिया के कोच स्लावेन बिलिक ने कहा, ‘मैं फुटबॉल के इस बेहतरीन मैच में भागीदारी के लिए दोनों टीमों को बधाई देना चाहता हूं।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शान से सेमीफचचाइनल में पहंचा तुकचर्ची