DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली पुलिस के दामन पर पहले भी लगे दाग

नई दिल्ली। वरिष्ठ संवाददाता। दिल्ली पुलिस पर महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी महकमे के दामन पर इस तरह के कई बार दाग लगे हैं और पुलिस शर्मसार हो चुकी है। खाकी को दागदार बनाने वाले पुलिसकर्मियों पर लूट, हत्या से लेकर दुष्कर्म और छेड़छाड़ के कई आरोप लगे हैं।

बीते साल चर्चा में रहे ये मामले सब इंस्पेक्टर पर दुष्कर्म का आरोप (जनवरी 2013) दिसंबर 2012 में नजफगढ़ इलाके में रहने वाली महिला कांस्टेबल ने थाने में एक शिकायत देकर पांडव नगर में तैनात सब इंस्पेक्टर रवि राठी पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म की रिपोर्ट लिखाई थी।

शिकायत के अनुसार महिला की 2010 में दिल्ली पुलिस में भर्ती हुई थी। इसी वर्ष रवि राठी नाम का सब इंस्पेक्टर भी दिल्ली पुलिस में भर्ती हुआ। अक्टूबर 2013 में भी रेप पीड़िता से दुव्यर्वहार पर आरोप एक एसएचओ लगाया गया था, जिसमें एसएचओ को सस्पेंड कर जांच शुरू की गई थी।

इतना ही नहीं आरोपी एसएचओ के खिलाफ विजिलेंस जांच भी बैठाई गई थी। हालांकि दो संस्थाओं चाइल्ड वैलफेयर कमेटी और एक अन्य संस्था ने आरोपों की जांच करके एसएचओ को क्लीन चिट दे दी थी।

मई, 2013 में भी एक सब-इंस्पेक्टर पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया गया था। पीड़ित महिला पुलिस पीसीआर में तैनात थी, जबकि आरोपी पुलिसकर्मी की तैनाती शकरपुर थाने में थी। इस मामले में महिला सिपाही ने जहर खाकर खुदकुशी की भी कोशशि की थी।

बमुश्किल इलाज के बाद नॉर्थ-ईस्ट जिले में खजूरी खास पुलिस ने रेप का केस दर्ज जांच शुरू कर दी। सितंबर, 2013 में भी एक पुलिसकर्मी पर घर में घुसकर रेप की कोशशि का आरोप एक महिला ने नंदनगरी इलाके में लगाया था।

महिला का आरोप था कि पुलिस ने जबरन उसके घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास किया। पुलिसकर्मी को तत्काल निलंबित कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली पुलिस के दामन पर पहले भी लगे दाग