अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इटली के लिए आसान नहीं होगा स्पेन से मुकचचाबला

पेन के लगातार बढ़िया प्रदर्शन ने रविवार को यहां होने वाले यूरो 2008 फुटबॉल टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल मैच से पहले विश्व कप विजेता इटली के होश उड़ा दिए हैं। अपने पिछले 20 मैचों में स्पेन अपराजित रहा है। उसके शुरुआती 11 खिलाड़ी हफ्ते भर के आराम के बाद पूरी तरह तरोताजा हो चुकेहैं। दूसरी ओर 2006 का विश्व कप विजेता इटली किसी तरह ही क्वार्टर फाइनल तक पहुंच सका है। लेकिन स्पेन के खिलाड़ियों के लिए ज्यादा खुशफहमी में रहना खतरनाक होगा। बड़ी प्रतियोगिताओं में ग्रुप चरण से आगे का उनका रिकॉर्ड कोई ऐसा नहीं रहा है जिस पर वे गर्व कर सकें। 2006 के विश्व कप में स्पेन ने शुरुआत में बेहतरीन प्रदर्शन किया मगर फ्रांस के खिलाफ हार के साथ उसका अभियान अचानक थम गया। मगर टीम के मिडफील्डर जाबी अलोंसो ने कहा, ‘हमारी टीम ने विश्व कप से अब तक काफी कुछ सीखा है। तब हम सब नौजवान थे लेकिन अब हमें पता है कि बड़ी प्रतियोगिताएं कैसी होती हैं।’ टूर्नामेंट के शुरुआती दौर में स्पेन के खिलाड़ियों ने बेहतरीन खेल दिखाया है। साफसुथरे पास खेलने वाले उसके मिडफील्डरों ने स्ट्राइकरों डेविड विला और फर्नान्डो टोरेस के लिए खूबसूरत अवसर बनाए हैं। स्पेन ने अपने पहले दो मैचों में रूस को 4-1 और स्वीडन को 2-1 से हराया। यूनान के खिलाफ अपने रिजर्व खिलाड़ियों के साथ उतरने के बावजूद उसने 2-1 से विजय हासिल की। दूसरी ओर इटली ने अपने आखिरी मैच में फ्रांस को 2-0 से शिकस्त दी। लेकिन इससे पहले उसने हालैंड के खिलाफ मैच गंवा दिया और रोमानिया से उसका मुकाबला ड्रॉ रहा। लेकिन इटली के खिलाड़ी टूर्नामेंटों में अपने पांव जमा लेने के बाद काफी सहज होकर खेलते हैं। दूसरी तरफ स्पेन के खिलाड़ियों के पांव सेमीफाइनल तक पहुंचते पहुंचते लडख़ड़ाने लगते हैं। मिडफील्डर जेनारो गातुसो और आंद्रिया पर्लो के निलंबन के कारण इटली कुछ परेशानी में है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इटली के लिए आसान नहीं होगा स्पेन से मुकचचाबला