DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव तैयारियों में जुटेगा ‘तीसरा मोर्चा’

संसद के भीतर बना 11 दलों वाला ‘तीसरा मोर्चा’21 फरवरी को सत्र के बाद आगे की रणनीति तय करेगा। सभी दल एक न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय करेंगे और उसके बाद देश में बड़ी रैलियों का आयोजन कर गैर कांग्रेस और गैर भाजपा सरकार के विकल्प को हवा देगा।

सरकार की तरफ से छह भ्रष्टाचार विरोधी विधेयकों के पारित किए जाने के मुद्दे पर येचुरी ने कहा कि गुट सुनिश्चित करेगा कि हंगामे के बीच कोई विधेयक पारित नहीं हो क्योंकि सत्ताधारी दल इन्हें पारित करा कर चुनावी मुद्दा बनाना चाहता है। येचुरी ने कहा कि हम ये मुद्दे लंबे समय से उठाते आए हैं।

कांग्रेस तो 5 साल सत्ता में रहने के बाद अब इन्हें लेकर आई है। पूर्व में दलों के एक दूसरे को दिए गए धोखे के संदर्भ में गुट के भविष्य पर माकपा के गुरुदास दासगुप्ता ने कहा कि पूर्व में जो कुछ हुआ, अब घटित नहीं होगा क्योकि इतिहास खुद को कभी नहीं दोहराता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चुनाव तैयारियों में जुटेगा ‘तीसरा मोर्चा’