DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीटरसन को हटाना इंग्लैंड के नेतृत्व की हार

पीटरसन को हटाना इंग्लैंड के नेतृत्व की हार

इंग्लैंड के प्रमुख बल्लेबाज केविन पीटरसन को अचानक टीम से बाहर किये जाने से नाराज पूर्व आईसीसी प्रमुख पाकिस्तान के एहसान मनी ने कहा है कि यह कदम एक खिलाड़ी के बजाय पूरे इंग्लिश नेतृत्व की विफलता का प्रतीक है।
        
दक्षिण अफ्रीकी मूल के इंग्लिश बल्लेबाज पीटरसन को इंग्लैंड एंडवेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने टीम के आगामी दौरों से बाहर कर दिया था जिसके बाद खुद पीटरसन ने इसे अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत बताया था। 
       
ईसीबी के प्रबंध निदेशक पॉल डाउंटन ने पीटरसन को बाहर किये जाने की जानकारी देते हुए इसे टीम के पुर्ननिर्माण के लिए उठाया गया कदम बताया था। हालांकि इंग्लैंड के इस कदम की कई पूर्व क्रिकेटरों ने कड़े शब्दों में निंदा की है। मनी ने कहा कि पीटरसन को टीम से बाहर किया जाना मुझे लगता है कि पूरे प्रबंधन की विफलता दिखाता है न कि किसी खिलाड़ी की।
      
पूर्व आईसीसी प्रमुख ने कहा कि पीटरसन एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं और क्रिकेट को उनके जैसे खिलाड़ियों की जरूरत होती है। खिलाड़ियों के साथ हमेशा ही कोई न कोई समस्या होती है लेकिन अंत में यह बोर्ड की जिम्मेदारी होती है कि वह अपने खिलाड़ियों को सही ट्रैक पर लेकर आए।
        
वर्ष 2003 से 2006 के बीच आईसीसी के अध्यक्ष रहे मनी ने पीटरसन का बचाव करते हुए कहा कि कोई यदि अच्छा खिलाड़ी टीम की योजनाओं में फिट नहीं बैठता है तो यह बोर्ड की विफलता होती है। इंग्लैंड का ऑस्ट्रेलियाई दौरा काफी खराब रहा था लेकिन फिर भी पीटरसन का प्रदर्शन संतोषजनक रहा था तो ऐसे में पीटरसन को टीम में न रखने का निर्णय कहां से तर्कसंगत है।
         
मनी ने कहा कि इंग्लैंड को अपने खिलाड़ियों को सही से मैनेज करने का काम ऑस्ट्रेलिया से सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया अपने खिलाड़ियों के प्रबंधन में बेहतरीन रहा है। वह उन्हें बहुत अच्छे से टीम के रूप में बांधे रखते हैं। ऑलराउंडर शेन वॉटसन को भारत दौरे से जाना पड़ा था लेकिन फिर भी उन्हें टीम से बाहर नहीं किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीटरसन को हटाना इंग्लैंड के नेतृत्व की हार