DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनियमित जलापूर्ति के खिलाफ आंदोलन

कतरास प्रतिनिधि। झारखंड विकास मोर्चा समर्थकों ने पिट वाटर(खदान का पानी) की अनियमित आपूर्ति के खिलाफ गोविंदपुर कोलियरी टू सीम का काम तीन घंटे तक बाधित किया। उनका कहना था कि दो माह से पिट वाटर की आपूर्ति में व्यवधान आ रहा है। प्रबंधन से सुधार करने की गुहार लगाने के बाद भी कोई नतीजा नहीं निकला। तीन दिनों से आपूर्ति पूरी तरह ठप है। सुबह आठ बजे से शुरू आंदोलन 11 बजे समाप्त हुआ।

परियोजना पदाधिकारी संजय सिंह, मैनेजर ए कुमार गोविंदपुर हाजरी घर पर मोर्चा समर्थकों से वार्ता की। टू सीम में पंप की खराबी दूर कर पानी आपूर्ति शुरू कराई और फोर सीम के पंप को ठीक कराने का आश्वासन दिया, तब जाकर लोग माने। आंदोलन में रघुनाथ हजारी, पंकज दशौंधी, विजय दशौंधी, गोपाल प्रसाद, अवध दशौंधी, श्याम बिहारी, गंगाधर, त्रिलोकी दास, राजेश दशौंधी, भरत दशौंधी, मानिक दशौंधी आदि शामिल थे। 10 हजार की आबादी प्रभावित दो माह से अनियमित पानी आपूर्ति से माथाडीह, भटमुरना मोड़, भटमुरना बस्ती व आसपास की 10 हजार की आबादी प्रभावित है।

इन जगहों के लिए कोलियरी के टू सीम व फोर सीम से पानी की आपूर्ति माथाडीह पंप हाउस टंकी में होती है। इसके बाद यहां से उपरोक्त जगहों पर पानी की आपूर्ति पाइप लाइन के माध्यम से होती है। इधर दो माह से लगातार छोटी बड़ी तकनीकी खराबी के कारण पानी की आपूर्ति में व्यवधान आने से लोग परेशान हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अनियमित जलापूर्ति के खिलाफ आंदोलन