DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शाम होते हीं मधुशाला में तब्दील हो जाती हैं होटलें

निज संवाददाता बिहिया। जगदीशपुर अनुमंडल अन्तर्गत आरा -मोहनियां नेशनल हाईवे और आरा बक्सर नेशनल हाईवे के किनारे स्थिति विभिन्न होटलों में खाने के साथ शराब पीने के प्रचलन के कारण भोजनालयों की स्थिति अब धीरे धीरे मधुशाला जैसी होती जा रही है।

बिहिया नगर स्थिति कई होटलों में भी अब खुलेआम बीयर बार की तर्ज पर भोजन के साथ शराब परोसी जाने लगी है। वहीं दूसरी तरफ स्थानीय पुलिस और उत्पाद विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है जिसके कारण होटलों में शराब पीने की परम्परा चल पड़ी है।

जानकारी के अनुसार बिहिया, जगदीशपुर, धनगाई और शाहपुर थाना क्षेत्रों के अन्तर्गत नेशनल हाईवे 30 और 84 के किनारे स्थित लगभग एक दर्जन होटलों में खुलेआम विभिन्न ब्रांडों के शराबों की बिक्री प्रतिदिन अवैध रूप से की जाती है।

इसके अलावा बिहिया रेलवे स्टेशन, रेलवे गुमटी और जगदीशपुर के विभिन्न जगहों पर स्थित होटल शाम ढलने के बाद मधुशाला में तब्दील हो जाते हैं। इन होटलों में अक्सरहां असामाजिक तत्वों और अपराधियों का जमावड़ा होने की बात बतायी जाती है।

इन होटलों में शराब और बीयर के खाली बोतलों को देखकर हीं स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। बताया जाता है कि अक्सरहां दबंग और रंगबाज किस्म के लोग होटल में घुसकर जबर्दस्ती भोजन के साथ शराब पीने लगते हैं।

अगर एक साथ एक हीं समय पर गोपनीय ढंग से इन होटलों पर छापेमारी की जाए तो कई चौंकाने वाले पहलू सामने आएंगे। आश्चर्यजनक बात यह है कि स्थानीय प्रशासन के पास अनुज्ञप्ति प्राप्त होटलों की कोई सूची भी उपलब्ध नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शाम होते हीं मधुशाला में तब्दील हो जाती हैं होटलें