DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तापमान के उतार चढ़ाव ने दिया मर्ज

 नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता। बदलते मौसम ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। दो दिनों से विभिन्न अस्पतालों में बुखार, गले में संक्रमण, सर्दी-जुकाम आदि के 20 प्रतिशत मरीज बढ़ गए हैं। डॉक्टरों ने मरीजों को ऐसे मौसम में विशेष एहतियात बरतने की सलाह दी है। अभी एक महीने तक मौसम के कारण मरीजों को परेशानी होगी।

दिन में तापमान 22-25 व रात में 7-8 डिग्री तापमान के कारण चार दिनों से मौसम में नियमित बदलाव देखे जा रहे हैं। दिन गर्म होने के कारण लोगों ने गर्म कपड़े पहनना कम कर दिया है। ठंड-गर्म के कारण गले में संक्रमण, बुखार, सर्दी जुकाम आदि के मरीज बढ़ गए हैं। वहीं अस्थमा व निमोनिया के मरीज भी इलाज के अस्पताल पहुंचे। मैक्स अस्पताल की वरिष्ठ फिजशिियन डॉ. मीनाक्षी जैन बताती हैं कि एक दो दिनों में सर्दी जुकाम, बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ गई है।

बदलते मौसम में लोगों को विशेष एहतियात बरतनी चाहिए। कैलाश अस्पताल के वरिष्ठ फिजशिियन डॉ. एके शुक्ला बताते हैं कि गले में संक्रमण के साथ ही सिर दर्द के साथ बुखार के मरीजों की संख्या करीब 20 प्रतिशत बढ़ गई है। दवा के साथ ही मरीजों को एहतियात बरतने की सलाह दी जा रही ह। इंडोगल्फ अस्पताल के इंटरनल मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ. जीसी वैष्णव ने बताया कि मरीजों की संख्या बढ़ी है। एक महीने तक गले में संक्रमण, बुखार आदि के मरीज आते रहेंगे।

मौसम में बदलाव के कारण होने वाली इन बीमारियों से बचाव का तरीका एहतियात है। बदलते मौसम के कारण प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है। इससे संक्रमण आदि का खतरा बढ़ जाता है। बीमारियों से बचने के लिए रखें ध्यान-दिन गर्म होने के बावजूद भी सामान्य कपड़ें न पहने-यह उस समय तक करें जब तक मौसम सामान्य न हो जाए-गर्मी होने पर फ्रिज के पानी का सेवन न करें-बाहर के व्यंजनों के सेवन से बचें-गले में संक्रमण के लक्षण दिखने पर गुनगुने पानी से गरारा करें-अधिक परेशानी होन पर विशेषज्ञ डॉक्टर से संपर्क करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तापमान के उतार चढ़ाव ने दिया मर्ज