DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए

नई दिल्ली, कार्यालय संवाददाता। संस्कृत में वार्तालाप पर संस्कृतज्ञों को प्रोत्साहित करना होगा। संस्कृत को संस्कृत भाषा के माध्यम से ही पढ़ाया जाना चाहिए। पी.एच.डी के सभी शोधार्थियों को संस्कृत भाषा में ही प्रस्तुत करना चाहिए। दिल्ली संस्कृत अकादमी द्वारा दिल्ली विश्वविद्यालय में महाविद्यालयीय श्लोक अंताक्षरी प्रतियोगतिा समारोह का आयोजन किया गया । ये विचार दिल्ली संस्कृत अकादमी, दिल्ली सरकार द्वारा सत्यवती महाविद्यालय, अशोक वहिार में दिल्ली में आयोजितमहाविद्यालयीय श्लोक अंताक्षरी प्रतियोगतिा के मुख्य अतिथि दिल्ली विश्वविद्यालय के दर्शन विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. अशोक वोहरा ने व्यक्त किए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षा की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए