DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष व सचिव का स्वागत

फतेहपुर। निज संवाददाता। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी में प्रदेश उपाध्यक्ष के पद पर चुने गए विभाकर शास्त्री व सचवि प्रिंस रियासत अली के पहले शहर आगमन पर बुधवार को कांग्रेसियों में गजब का उत्साह रहा। दोनों पदाधिकारियों के पहुंचते ही कार्यकर्ताओं ने उन्हें फूल-मालाओं से लादकर उनका अभिनंदन किया।

इस दौरान दोनों पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं से बातचीत की और उनकी समस्याएं भी जानी। सदर विधानसभा व लोकसभा चुनाव को लेकर भी उनके बीच गहन चर्चा हुई। विभाकर शास्त्री को प्रदेश कमेटी में उपाध्यक्ष, ऊषा मौर्या को प्रदेश महासचवि व प्रिंस रियासत अली को सचवि पद के लिए चुना गया था। बुधवार को तीनों के शहर आगमन की खबर मिलते ही कांग्रेसी उत्साह से भर गए। दोपहर बाद विभाकर शास्त्री व प्रिंस रियासत अली शहर पहुंचे। ऊषा मौर्य तबियत सही नहीं होने के कारण नहीं आ सकी।

ऐसे में कांग्रेेसियों ने दोनों प्रदेश स्तरीय नेताओं का धूमधाम से स्वागत किया। अभिनंदन शहर कमेटी अध्यक्ष आरिफ गुड्डा की अगुवाई में हुआ। स्वागत के बाद विभाकर शास्त्री ने कार्यकर्ताओं से उनकी समस्याएं जानी और चुनाव को लेकर विस्तार से चर्चा की। कांग्रेसियों ने सदर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव व लोकसभा चुनाव को लेकर प्रदेश नेताओं से खुलकर बातचीत की। इस मौके पर पूर्व जिलाध्यक्ष महेश द्वविेदी, कलीम उल्ला, प्रधानमंत्री सड़क रोजगार योजना नगिरानी समिति के प्रदेश सचवि मुकीम अहमद, स्वरूप राज जूली, सईदुल हसन नकवी, शीबू खान सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद रहे।

 

जिलाध्यक्ष पप्पू पाल के खिलाफ खुला मोर्चा स्वागत समारोह के बाद सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विभाकर शास्त्री के सामने कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष विनय उर्फ पप्पू पाल की कार्यशैली पर सवालियां निशान खड़े किए। एक सुर में सभी कार्यकर्ताओं ने कहा कि हाईकमान उन्हें सक्रिय रूप से कार्य करने को निर्देशित करें अथवा उन्हें पद से हटाया जाए। विभाकर शास्त्री ने उनकी बात हाईकमान तक पहुंचाने का आश्वासन दिया है। कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।

सदर से लड़ सकते हैं चुनाव विभाकरसदर विधानसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव को लेकर जब विभाकर शास्त्री से बात की गई तो उन्होंने कहा कि अगर हाईकमान उन्हें इसके लिए निर्देशित करती है तो वह जरूर चुनाव लड़ेंगे।

कार्यकर्ताओं ने उनका इस बात पर खुलेमन से समर्थन किया और जी-जीना लगा देने की बात कही। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर हाईकमान किसी और को भी टिकट देती है तो वह उसके लिए तयारी कराएंगे। इसमें किसी तरह की कमी नहीं रहने दी जाएगी।

लोकसभा सीट पर संशय बरकरार, प्रत्याशी कौन सदर विधानसभा के साथ लोकसभा चुनाव को लेकर भी चर्चा की गई। इस दौरान कांग्रेस प्रत्याशी को लेकर चर्चा की गई। कार्यकताओं ने एक सुर में कहा कि प्रत्याशी कोई भी हो।

वह पूरी तरह से कांग्रेसी और जिले में सक्रिय होना चाहिए। विभाकर ने कार्यकर्ताओं की इस राय को शीघ्र ही प्रदेश प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री व हाईकमान तक पहुंचाने का वादा किया और कहा कि वह पूरी तरह से चुनाव की तैयारियों में लगे रहें।

जिलाध्यक्ष के खिलाफ करेंगे शिकायत कांग्रेसी कांग्रेस जिलाध्यक्ष विनय उर्फ पप्पू पाल से खफा कांग्रेसियों का गुस्सा इस कदर था कि उन्होंने प्रदेश नेताओं के सामने यह कहने में भी नहीं हिचकिचाए कि अगर उनकी बात हाईकमान तक नहीं पहुचांई जाती है तो वह खुद ही 14 फरवरी को होने वाली हाईकमान की मीटिंग में इस बात की शिकायत करने के लिए जाएंगे।

जहां वह पप्पू पाल की निष्क्रियता का भंडाफोड़ करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष व सचिव का स्वागत