DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माइलेज बढ़ाने को नई तकनीक लाईं कारें

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के मद्देनजर कार कंपनियों का पूरा जोर कम ईंधन और ज्यादा माइलेज पर है। यहां बुधवार से शुरू हुए इंडियन ऑटो एक्सपो-2014 में इस बदलाव को साफ देखा जा सकता है। मारुति और बीएमडब्ल्यू जैसी कंपनियों ने इसके लिए नई तकनीक वाली कारों को पेश किया है।

मारुति सुजुकी ने नई कार ‘केलेरियो’ पेश की है। इस मॉडल में रोबोटिक ट्रांसमिशन प्रणाली है। जिससे क्लच का इस्तेमाल किए बिना ही गियर बदलता है। इस तकनीक से कार का प्रदर्शन सुधरकर 23.10 किलोमीटर/लीटर हो जाता है। कंपनी के मुख्य प्रबंध निदेशक केनिशी युकावा ने कहा, हमारा मकसद उस वर्ग तक पहुंचाना है, जहां तक अभी नहीं पहुंच सके हैं। इसी तरह, बीएमडब्ल्यू की लग्जरी ‘सेलून 3-सीरीज जीटी’ डीजल इंजन के साथ पेश की गई है। यह कार जब 100 किमी/घंटा की रफ्तार पर पहुंचती है तो इसमें लगे विशेष रियर विंग्स खुल जाते हैं। इससे इंजन पर दबाव कम हो जाता है और ईंधन खपत घट जाती है।

ऐसी ही तकनीक ऑडी कंपनी अपनी आर-18 इट्रॉन हाईब्रिड कार में लेकर आई है। फॉर्मूला कारों में भी इसी तकनीक का प्रयोग होता है। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोटिव मैन्युफैक्चरर की कार्य समिति के सदस्य विनोद अग्रवाल ने बताया कि कार कंपनियों के लिए महंगा ईंधन सबसे बड़ी परेशानी है। इसी कारण वाहनों की बिक्री में भी गिरावट आई है। इसलिए कंपनियां हर उस तकनीक पर काम कर रही हैं, जो ईंधन की खपत कर कर दे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माइलेज बढ़ाने को नई तकनीक लाईं कारें