DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महँगाई रोकने को सर के बल खड़ी सरकार

तमाम प्रयासों को अंगूठा दिखती बेलगाम महँगाई को थामने के लिए केन्द्र सरकार नेोल्द ही ब्याा दरों में बढ़ोतरी और अन्य कुछ कड़े फैसले के पुख्ता संकेत दिए हैं। चुनाव की घड़ी नजदीक देख सरकार ने सार्वानिक वितरण प्रणाली को और माबूत करने के साथ ही गेहूँ-चावल और अन्य रोमर्रा की वस्तुओं की कीमतों पर काबू पाने के लिए इनकी बिक्री खुले बार में करने की भी घोषणा की है।ड्ढr महँगाई 13 साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुँचने से संप्रग सरकार एलर्ट मोड में है। सरकार शनिवार को पूर दिन इसी बात पर माथापच्ची करती रही कि बेलगाम महँगाई पर आखिर कैसे काबू पायाोाए। इस सिलसिले में खुद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम और रिार्व बैंक के गवर्नर वाई.वी. रड्डी काफी व्यस्त रहे। सोनिया ने इस मामले में चिदम्बरम को तलब कर लिया और महँगाई पर काबू पाने के लिए खूब विचार-विमर्श किया। समझाोाता है कि उन्होंने वित्त मंत्री कोोल्द ही ठोस उपाय करने के निर्देश दिए हैं। वहीं रिार्व बैंक गवर्नर रड्डी ने प्रधानमंत्री के अलावा चिदम्बरम के साथ अलग से बैठक की। बैठक के बाद वित्त मंत्री ने स्वीकार किया कि देश की अर्थव्यवस्था कठिन दौर से गुार रही है। इससे निपटने के लिए अब पहले के मुकाबले और भी सख्त उपायों कीोरूरत है। उन्होंने कहा कि महँगाई रोकने के लिए मौद्रिक उपायों के साथ ही प्रशासनिक कदम भी उठाएोाएँगे। सूत्रों के मुताबिक सरकार पेट्रो उत्पादों की शुल्क दरों में और कमी करने पर भी विचार कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महँगाई रोकने को सर के बल खड़ी सरकार