DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किंग्स इलेवन पंजाब की नजरें पीटरसन पर

किंग्स इलेवन पंजाब की नजरें पीटरसन पर

किंग्स इलेवन पंजाब ने बुधवार को कहा कि केविन पीटरसन के अचानक संन्यास लेने से इंडियन प्रीमियर लीग के खिलाड़ियों की आगामी नीलामी की दिशा बदल गई है क्योंकि पूरे सत्र के लिए उनकी उपलब्धता इंग्लैंड के इस क्रिकेटर को सबसे लुभावना खिलाड़ी बना देगी।

पीटरसन के अंतरराष्ट्रीय करियर का आज अंत हो गया जब उन्हें वेस्टइंडीज के आगामी दौरे और इसके बाद बांग्लादेश में होने वाली विश्व टी20 चैम्पियनशिप के लिए इंग्लैंड की टीम में जगह नहीं मिली। किंग्स इलेवन पंजाब के क्रिकेट संचालन प्रमुख अनंत सरकारिया ने कहा कि केविन पीटरसन इतना शानदार खिलाड़ी है कि प्रत्येक फ्रेंचाइजी उसे अपनी टीम में शामिल करना चाहती है। काफी टीमों की नजरें उस पर होगी और हम उनमें से एक हैं।

सरकारिया ने कहा कि पूरे आईपीएल सत्र के लिए इंग्लैंड के खिलाड़ियों की उपलब्धता अधिकांश फ्रेंचाइजियों के लिए हमेशा समस्या रही है। उन्हें अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताएं पूरी करनी होती हैं। पीटरसन के संन्यास ने नीलामी की दिशा बदल दी है। अब वह पूरे सत्र के लिए उपलब्ध रहेगा। हमारे नजरें आईपीएल के इस सत्र में बेहतर संतुलित टीम पर है।

आईपीएल की टीमें हमेशा इंग्लैंड के खिलाड़ियों को चुनने में हिचकिचाहट दिखाती हैं क्योंकि उन्हें पता होता है कि वे पूरे टूर्नामेंट के लिए उपलब्ध नहीं होंगे। नौ साल लंबे करियर के बाद पीटरसन के सनसनीखेज संन्यास के बाद इंग्लैंड के इस दिग्गज बल्लेबाज को आईपीएल फ्रेंचाइजियों से आकर्षक पेशकश मिलने की उम्मीद हैं क्योंकि वह दुनिया में टी20 के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं।

पीटरसन इंग्लैंड के उन 10 खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने आईपीएल नीलामी के लिए अपना नाम दिया है। दिल्ली डेयरडेविल्स ने आईपीएल के सातवें टूर्नामेंट के लिए उन्हें अपनी टीम में बरकरार नहीं रखा है। डेयरडेविल्स ने अपने किसी भी खिलाड़ी को रिटेन नहीं किया है।

इंग्लैंड की ओर से 104 टेस्ट और 136 वनडे खेलने वाले पीटरसन को नीलामी में दो करोड़ रुपये के आधार मूल्य के शीर्ष वर्ग में रखा गया है। पंजाब फ्रेंचाइजी की नजरें भारतीय टीम से बाहर चले रहे युवराज सिंह पर भी टिकी होंगी जो बीसीसीआई द्वारा पुणे फ्रेंचाइजी को बर्खास्त किए जाने के बाद किसी टीम का हिस्सा नहीं हैं।

सरकारिया ने कहा कि युवराज पंजाबी लड़का है। हमें उसे किंग्स इलेवन पंजाब में दोबारा वापस लाने में खुशी होगी। युवी में हमेशा दिलचस्पी रही है। लेकिन इसके साथ ही नीलामी में हमारी नजरें कई अन्य खिलाड़ियों पर भी होगी। आगामी सत्र में मजबूत टीम बनाने के लिए हमारी नजरें विदेशी और भारतीय स्टार खिलाड़ियों के अच्छे मिश्रण पर लगी है। यही कारण है कि हमने सिर्फ दो खिलाड़ियों (डेविड मिलर और मनन वोहरा) को रिटेन किया है।

कोच डेरेन लीमैन इस बार टीम का हिस्सा नहीं होंगे क्योंकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस बार उन्हें आईपीएल से जुड़ने की स्वीकृति नहीं दी है इस बारे में पूछने पर सरकारिया ने कहा कि हमें पता था कि वह क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया में काम ढूंढ़ने की कोशिश कर रहा है। हमें इसकी पूरी जानकारी थी। हम आपसी सहमति पर पहुंचे और ऐसा कुछ नहीं है कि सीए ने उन्हें आईपीएल में काम करने की स्वीकृति नहीं दी। हम दोनों आपसी सहमति पर पहुंच गए थे।

सरकारिया ने कहा कि भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच जो डावेस टीम का प्रभार संभालेंगे जबकि संजय बांगड़ सहायक कोच रहेंगे। डावेस इससे पहले टीम के गेंदबाजी कोच थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किंग्स इलेवन पंजाब की नजरें पीटरसन पर