DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस ने द्विवेदी की टिप्पणी से अपने को अलग किया

कांग्रेस ने द्विवेदी की टिप्पणी से अपने को अलग किया

जनार्दन द्विवेदी द्वारा जाति के आधार पर आरक्षण के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर हमलों की जद में आयी कांग्रेस और साथ ही सरकार ने बुधवार को वरिष्ठ नेता की टिप्पणी से अपने आप को अलग कर लिया। पार्टी ने कहा कि यह उनकी निजी राय है और यह भी कहा कि वह आरक्षण की मौजूदा नीति का समर्थन करती है तथा पालन करती है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि जनार्दन द्विवेदी एक सुलझे हुए तजुर्बेकार राजनीतिक नेता हैं। आरक्षण को लेकर दिया गया बयान उनकी निजी राय है। कांग्रेस पार्टी आरक्षण की मौजूदा नीति पर पूरी तरह कायम है। हमारे रुख में कोई पुनर्विचार या बदलाव नहीं है।

संप्रग सरकार को बाहर से समर्थन दे रही समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने आज द्विवेदी की टिप्पणी के खिलाफ संसद में विरोध जताया। भाजपा और शिरोमणि अकाली दल ने भी इस वरिष्ठ नेता के बयान के समय को लेकर सवाल उठाया, क्योंकि यह बयान ऐन लोकसभा चुनाव के पहले आया है।

इस मुद्दे को लेकर राज्यसभा में हंगामे के बीच संसदीय कार्य राज्य मंत्री राजीव शुक्ला ने कहा कि सरकार आर्थिक आधार पर आरक्षण देने के किसी तरह के प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है। आरक्षण की आज जो व्यवस्था है, संविधान के प्रावधानों के मुताबिक वह जारी रहेगी। द्विवेदी राज्य सभा के सदस्य हैं और शुक्ला जब यह स्पष्टीकरण दे रहे थे तो वह सदन में उपस्थित थे।

एआईसीसी की ब्रीफिंग के दौरान सुरजेवाला को इस मुद्दे पर अनेक सवालों का सामना करना पड़ा। संवाददाता जानना चाहते थे कि क्या पार्टी द्विवेदी के बयान की निंदा करती है, क्योंकि द्विवेदी हमेशा पार्टी में अनुशासन लागू करने की बात पर जोर देते रहे हैं। सुरजेवाला ने बस इतना कहा कि मैंने आपके सवाल को नोट कर लिया है।

यह पूछे जाने पर कि क्या आर्थिक आधार पर आरक्षण का विचार पार्टी में विचाराधीन है सुरजेवाला ने कहा कि आज जो हमारी संवैधानिक व्यवस्था है उसमें आर्थिक आधार पर आरक्षण की कल्पना नहीं है। पार्टी के एक नेता ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर कहा कि कांग्रेस में आरक्षण नीति पर कोई भ्रम नहीं है। जहां तक पार्टी का सवाल है हम मौजूदा नीति पर कायम हैं। लेकिन आरक्षण एक विवादपूर्ण मुद्दा है और सभी दलों में इस पर भिन्न भिन्न किस्म की राय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस ने द्विवेदी की टिप्पणी से अपने को अलग किया