DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम को थी परवीन के इस्तीफे की भनक

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। समाज कल्याण मंत्री परवीन अमानुल्लाह के इस्तीफे ने जदयू को चुनाव के पहले एक बड़ा झटका दिया है। वैसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को तीन-चार दिन पहले ही यह भनक थी कि वह जदयू छोड़ कर दूसरे दल से चुनाव लड़ सकती हैं।

इस संबंध में उन्होंने परवीन अमानुल्लाह से उनकी मंशा के बारे में पूछा भी था। परवीन के इस्तीफे के बाद जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह से जब इस संबंध में बात हुई तो उन्होंने कहा कि उन्होंने स्वयं परवीन अमानुल्लाह से बात की है। इस्तीफा वापस लिए जाने का अनुरोध किया है। वहीं परवीन अमानुल्लाह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर वह अपनी बात कहेंगी। उनसे मिलने के लिए उनके आवासीय दफ्तर में मैंने अपना नाम लिखवाया है।

कल करेंगे मुलाकातः जदयू प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मैंने परवीन अमानुल्लाह को कहा है कि अगर उन्हें किसी तरह की परेशानी हो रही है तो उसे आपस में मिल बैठकर सलटा लेना चाहिए। तकलीफ इससे खत्म हो सकती है। वैसे वह गुरुवार को खुद जाकर उनसे मुलाकात करेंगे।

इस्तीफा वापस लेने का सवाल नहीं पूर्व मंत्री परवीन अमानुल्लाह ने कहा कि अपना इस्तीफा उन्होंने मुख्यमंत्री और राज्यपाल दोनों को भेज दिया है। मौखिक रूप से उनकी इस संबंध में मुख्यमंत्री से कोई बात नहीं हुई है।

वैसे उनके पति अफजल अमानुल्लाह ने मुख्यमंत्री को फोन कर मेरे इस्तीफे के बारे में बता दिया है। वह स्वयं मिलना चाहती थीं, मुख्यमंत्री से पर वह बोधगया में हैं। उन्होंने कहा कि जदयू अध्यक्ष से मिलने में उन्हें कोई परहेज नहीं है पर इस्तीफा वापस लेने का कोई सवाल नहीं। वह दूसरे दलों को देख रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीएम को थी परवीन के इस्तीफे की भनक