DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आर्म्स लाइसेंस का ब्योरा जिलों से तलब

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। राज्य सरकार ने आर्म्स लाइसेंस का ब्योरा जिलों से तलब किया है। गृह विभाग द्वारा सभी जिलों के डीएम को जिला प्रशासन द्वारा जारी आर्म्स लाइसेंस का ब्योरा सरकार को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए एक सप्ताह का वक्त दिया गया है। यह निर्देश उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बिहार से मांगी गई जानकारी के आलोक में दिया गया है।

ब्योरा एकत्र होने से बिहार व यूपी के बीच जारी हथियारों के गोरखधंधे से संबंधित कई खुलासे हो सकते हैं। ब्योरा से कई गोरखधंधे के खुलासे के आसारविभागीय सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश के कानपुर में धड़ल्ले से बिहार व अन्य राज्यों से जारी आर्म्स लाइसेंस के आधार पर कारतूस की खरीद की सूचना मिली है। अवैध हथियार व फर्जी हथियार लाइसेंस के आधार पर कारतूस की बिक्री से सरकार को जहां राजस्व का नुकसान तो हो ही रहा है, कारतूसों का इस्तेमाल आपराधिक गतिविधियों में भी किया जा रहा है।

हाल ही में राज्य पुलिस को बिहार के नक्सलियों के पास बड़े पैमाने पर कारतूसों व हथियारों की उपलब्धता के साथ ही फर्जी लाइसेंस की जानकारी मिली है। ऐसे में आर्म्स लाइसेंस के ब्योरा मिलने से कई खुलासे होने के आसार है।

क्या मांगा है यूपी ने बिहार सेः उत्तर प्रदेश सरकार ने बिहार से राज्य में आर्म्स लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया एवं यहां उपलब्ध पुलिस बलों की संख्या और उनके लिए उपलब्ध आर्म्स तथा व्यक्तिगत सुरक्षा के लिए जारी आर्म्स लाइसेंस धारकों की संख्या का ब्योरा उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आर्म्स लाइसेंस का ब्योरा जिलों से तलब