DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम के दरवार तक पहुंचा मामला,अब मिलेगी मदद

 हाथरस। तीन महीने पहले शहर के खंदारी गढ़ी में आर्थिक तंगी से परेशान एक युवक ने खुद को आग लगा ली। अस्पताल लाते-लाते उसने दमतोड़ दिया। युवक काफी दिनों से बीमार था।

परिवार के लोग मुखमरी की कगार पर थे। विकलांग पत्नी दो घरों में काम करके चार सौ रुपये महीने कमा रही थी। कर्ज लेने के भी रास्ते बंद हो गए। इन सब हालातों से परेशान आकर युवक ने मौत को चूम लिया। युवक की मौत के बाद समाजसेवी रवि चौहान परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए पहुंचे। साथ ही मुख्यमंत्री से आर्थिक मदद की मांग की। मुख्यमंत्री ने जब प्रशासन से जानकारी ली तो प्रशासन ने बताया है कि वह विवेकाधीन कोष से आर्थिक मदद दिलाए जाने की संस्तुति कर चुके है।

यह बता दे कि करीब 40 साल के पप्पू राजमिस्त्री ने 14 नवंबर को खुद को आग लगा ली। इससे उसकी तुरन्त ही मौत हो गई, क्योंकि पिछले कुछ साल से उसकी तबियत खराब रहने लगी थी। छह महीने पहले पता चला कि उसे टीबी हो गई है। परिवार में वह अकेला कमाने वाला था। लिहाजा ऐसा सदमा लगा कि खाट पकड़ ली। काम पर जाना बंद हुआ तो खाने के लाले पड़ गए। ऐसे में विकलांग पत्नी व बड़ा बेटा काम करने को मजबूर हो गए।

15 साल पहले पप्पू की उर्मिला से शादी हुई। मगर बिहार की रहने वाली उर्मिला पैर से विकलांग है। तीन बच्चों है। सबसे बड़ा लड़का सूरज 12 साल का है। उससे छोटे गुड्डू की उम्र आठ साल है। छोटी बेटी गुड़िया छह साल की है। आर्थिक तंगी के कारण सूरज स्कूल नहीं जा सका। मगर मोहल्ले के लोगों ने गुड्डू और गुड़िया का प्राइमरी स्कूल में एड़ाीशन करा दिया। पप्पू की मौत की सूचना पर प्रशासन ने परिजनों को तीस हजार रुपये दिलवाने का वायदा किया था,लेकिन उसे एक पैसा नहीं मिला है।

गेंहू भी सिर्फ पचास किलो भेजे है। मगर पप्पू की मौत के तीसर दिन समाजवेसी रवि चौहान भट्टे वाले पहुंचे और परिजनों को दस हजार रुपये नगद दिए। दो कुन्तल गेंहू और पूरे परिवार के लिए कपड़े। जब इस मामले की शिकायत समाजसेवी रवि चौहान ने मुख्यमंत्री से की तो वहां से डीएम को पत्र भेजा गया। डीएम ने 25 जनवरी को विशेष कार्यधिकारी मुख्यमंत्री लोक शिकायत को पत्र भेजा है कि वह पूर्व में ही मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से आर्थिक मदद के लिए संस्तुति कर चुके है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीएम के दरवार तक पहुंचा मामला,अब मिलेगी मदद