DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बकाया भुगतान मिलने से किसानों के खिले चेहरे

 रामपुर। हिन्दुस्तान संवाद। गन्ना काश्तकारों को बकाया भुगतान मिलने से चेहरे खिल गए हैं। किसानों को वर्ष 2012.13 का बकाया त्रविेणी चीनी मिल ने अदा कर दिया है। कारखाना प्रबंधक अमेज सिंह ने बताया कि केंद्र से चीनी मिलों को कोई मदद नहीं मिली है। त्रविेणी शुगर मिल पर पिछले साल का 6 करोड़ 27 लाख 28 हजार बकाया था, मिल प्रबंधन ने मंगलवार को किसानों के बकाए का भुगतान कर दिया है।

जबकि,चालू सीजन का मिल पर गन्ना काश्तकारों का करोड़ो रुपये बकाया हो गया है। चीनी मिलों द्वारा किसानों को भुगतान करने में हीलाहवाली बरतने से किसानों का गन्ने की खेती से मोह भंग हो रहा है। जिसके चलते चालू सीजन में गन्ना रकबे में गिरावट दर्ज हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बकाया भुगतान मिलने से किसानों के खिले चेहरे