DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोर्ड परीक्षा में नहीं चलेगी नकल की कोई तरकीब

मेरठ। कार्यालय संवाददाता।  यूपी बोर्ड परीक्षा में भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तरह सख्ती रहेगी। शासन, बोर्ड परीक्षा में पहले से सतर्कता बनाए रखने की तैयारी कर रहा है। बोर्ड परीक्षाएं की नीतियों में इस बार नकल की सामने आ रहीं नई-नई तरकीबों को संज्ञान लिया जा रहा है। शासन के अनुसार बोर्ड परीक्षा में मोबाइल फोन, पेजर, इलेक्ट्रानिक डायरी आदि को भी संज्ञान में लिया जाएगा, ताकि बोर्ड परीक्षा में नकल के नए-नए पैतरों पर पहले ही रोक लगाई जा सके।

इसके लिए जनपद के सभी अधिकारी और क्षेत्रीय कार्यालय को निर्देश भी भेजे गए हैं। उन छात्रों या लोगों पर भी खास नजर रखने को कहा गया है जो परीक्षा के दौरान प्रश्नों के उत्तर बताने की कोशशि करते हैं। परीक्षाओं से पहले प्रश्न पत्रों के पैकेट को भी जांच करने को कहा गया है। इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा सचल दस्ते बनाते हुए प्रत्येक टीम को कम से कम दो कांस्टेबल और सब इंस्पेक्टर उपलब्ध कराने को कहा गया है।

डीआईओएस को इमरजेंसी की दशा में पुलिस स्टेशनों पर उपलब्ध वायरलेस पर सूचना देने की सुविधा की तैयारी भी इस बार की जा रही है। परीक्षार्थियों का सिटिंग प्लान, रोल नंबर के अनुसार होगा। इसमें यदि कोई गड़बड़ मिली, तो सीधे केंद्र व्यवस्थापक ही जिम्मेदार होगा। मजिस्ट्रेट और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी, परीक्षा केंद्रों का आकस्मिक दौरा करेंगे। सामूहिक नकल के शक पर बदल सकते हैं प्रश्नपत्र शासन ने यह भी कहा है कि किसी परीक्षा केंद्र से सामूहिक नकल की सूचना प्राप्त होने या संदेह होने पर माध्यमिक शिक्षा परिषद से तत्काल संपर्क कर, कार्यवाही करनी होगी।

साथ ही ऐसे प्रकरणों मे कार्यवाही के रूप में प्रश्नपत्र बदले भी जा सकते हैं। या उस दिन उस पाली की परीक्षा निरस्त कर दुबारा परीक्षा उस केंद्र के दूसरे स्थान पर कराई जा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बोर्ड परीक्षा में नहीं चलेगी नकल की कोई तरकीब