DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्ता पक्ष के लोगों की नाराजगी महंगी पड़ी

 आगरा। जिलाधिकारी जुहेर बिन सगीर को सत्ता पक्ष के लोगों की नाराजगी भारी पड़ गई। इसी के चलते उनका स्थानांतरण हो गया। हालांकि उन्होंने अपने कार्यकाल में जिले में कई नई योजनाएं भी शुरू कराईं, लेकिन सत्ता पक्ष के दबाव के आगे उन्हें जाना ही पड़ा। जिलाधिकारी बनने से पहले वे यहां शिक्षा विभाग में भी कार्यरत रहे। उन्होंने उस दौरान बेसिक शिक्षा विभाग में काफी अच्छा काम किया था।

उसके बाद जब जिलाधिकारी के बनकर आए तो शहर में सौंदर्यीकरण के भी कुछ अच्छे काम कराए। उन्होंने आगरा में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सिविल एन्क्लेव के लिए प्रयास शुरू किए। बटेश्वर क्षेत्र में भी काफी काम कराया। पैरासेिलग के लिए मेहताब बाग में प्रयास किए। एमजी रोड की हालत सुधारने के लिए काफी प्रयास किए। सखी बस सेवा की शुरुआत उन्हीं की देन है। उन्होंने चंबल से आगरा में पानी के लिए एक प्रोजेक्ट भी तैयार कराया।

इस पर कार्य शुरू भी हो गया है। इसके अलावा कई अन्य योजनाओं पर काम भी चल रहा है। इधर, पिछले कुछ माह से सत्तापक्ष के लोगों से उनके मतभेद जगजाहिर हैं। उनकी शिकायत सीएम तक से की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सत्ता पक्ष के लोगों की नाराजगी महंगी पड़ी