DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएमएस देगा ट्रैफिक की पूरी जानकारी

नई दिल्ली। जितेंद्र भारद्वाज। वाहन चालकों के लिए राहत की एक बड़ी खबर है। ट्रैफिक पुलिस की एसएमएस सेवा अब नए स्वरूप में दोबारा शुरू हो रही है। एसएमएस से अब केवल रोड जाम या डायवर्जन ही नहीं, बल्कि उसकी वजह और समयावधि की जानकारी भी मिलेगी। करीब डेढ़ साल से बंद पड़ी इस सेवा को शुरू करने के लिए एमटीएनएल और ट्रैफिक पुलिस के बीच समझौता हुआ है। फरवरी के अंत तक वाहन चालकों को एसएमएस मिलने लगेंगे। बता दें कि वर्ष 2012 के अंत में रेट बढ़ने के कारण इस सेवा को रोक दिया गया था।

संबंधित कंपनी ने मैसेज का रेट एक पैसे से बढ़ाकर 20 पैसे कर दिया था। ट्रैफिक पुलिस की इस नशिुल्क सेवा के जरिए वाहन चालकों को ट्रैफिक से संबंधित सभी तरह की जानकारी समय रहते मिल जाती थी। वाहन खराब होना, धीमा ट्रैफिक, जाम या फिर डायवर्जन आदि कि सूचना चालकों के लिए मददगार साबित होती थी। इससे वाहन चालक उस रोड पर न जाकर पहले ही डायवर्जन ले लेते थे। मानसून के दौरान जब दिल्ली की सड़कें पानी से लबालब हुई तो इसी मैसेज सेवा ने हजारों वाहन चालकों को जाम में फंसने से बचाया।

ट्रैफिक से संबंधित जानकारी लेने के लिए दिल्ली-एनसीआर के करीब 80 हजार वाहन चालक एसएमएस सेवा से जुड़े हुए थे। इस सेवा को दोबारा से शुरू कराने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने खासी मशक्कत की। टेलीकॉम कंपनियों और डीएवीपी (भारत सरकार का प्रचार एवं विज्ञापन निदेशालय) के साथ कई बार बैठक हुई। संबंधित कंपनी का कहना था कि सर्विस प्रोवाइडर द्वारा रेट बढ़ाए गए हैं, इसलिए कुछ नहीं किया जा सकता। डीएवीपी ने भी बढ़े हुए रेटों को मंजूरी देने से इंकार कर दिया।

अंतिम प्रयास के तौर पर ट्रैफिक पुलिस के अफसरों ने एमटीएनएल के सीएमडी के साथ बातचीत की। ट्रैफिक पुलिस द्वारा पेश की गई दलीलों के बाद एमटीएनएल पांच पैसे प्रति एसएमएस के हिसाब से सर्विस उपलब्ध कराने के लिए तैयार हो गया। इसमें तीन पैसे कंपनी का चार्ज और दो पैसे सर्विस प्रोवाइडर के रहेंगे।

वर्जन

अब एमटीएनएल एसएमएस सेवा मुहैया कराएगा। गृह मंत्रालय को फाइल भेजी गई है। फरवरी के अंत तक एसएमएस सेवा दोबारा से शुरू हो जाएगी।

ताज हसन, स्पेशल सीपी (ट्रैफिक) इसलिए जरूरी है एसएमएस 2012 2013 प्रदर्शन 1307 1467 रैली 228 683धरना-हड़ताल 545 1836मेला व त्यौहार 592 481 जुलूस 1105 1055 अन्य इंतजाम 4628 5525 नोट: पिछले साल 1479 वीवीआईपी और वीआईपी इंतजाम के चलते वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा था अन्य इंतजाम 4628 5525 नोट: पिछले साल 1479 वीवीआईपी और वीआईपी इंतजाम के चलते वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एसएमएस देगा ट्रैफिक की पूरी जानकारी