DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीडीई के निदेशक बदले गए

पटना विश्वविद्यालय के प्रशासनिक ढांचे में फेरबदल का दौर जारी है। विवि प्रशासन ने विवाद में चल रहे डीडीई के निदेशक प्रो. अमरन्द्र कुमार मिश्रा केा उनके पद से हटा दिया है। पिछले दिनों डीडीई डिग्री को अमान्य घोषित किए जाने के मामले इनपर आरोप लगया जा रहा था। पटना विवि के कुलसचिव डा. विभाष कुमार यादव ने बताया कि डीडीई के निदेशक प्रो.अमरन्द्र मिश्रा के जगह पर पटना कॉलेज के भूगोल विभाग के स्नातकोत्तर के प्रो. कार्यानंद पासवान को डीडीई का निदेशक बनाया गया है। इसके पहले भी श्री पासवान को 2005 में डीडीई का निदेशक बनाया गया था।ड्ढr पटना विवि के प्रशासनिक ढांचे में फेरबदल की चर्चा तो कुलपति डा. श्याम लाल के आने के बाद से ही चल रही थी। वहीं नए सत्र में अब विभिन्न पदों पर नए पदाधिकारियों को छात्र देखेंगे।ड्ढr ड्ढr वहीं पटना कला एवं शिल्प महाविद्यालय के प्राचार्य डा. अनुनय चौबे की मॉरीशस में प्रतिनियुक्ित पर जाने के कारण प्रभारी प्राचार्य के रूप में दरभंगा हाऊस के अंग्रेजी विभाग के प्रो. शंकर आशीष दत्ता को पदभार सौंपा गया है। वहीं पहले ये पद साइंस कॉलेज के प्रो. डा. अतुल आदित्य पांडे को सौंपा गया था। बकौल कुलसचिव विश्वविद्यालय की व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए कुलपति ने इन पदों पर नियुक्ित का निर्णय लिया है। ड्ढr पटना विवि कुलपति व कर्मियों की वार्ता विफलड्ढr पटना (सं.सू.)। पटना विवि के कुलपति डा. श्याम लाल और कमचारियों के बीच शनिवार को हुई वार्ता वे नतीजा समाप्त हो गया। कर्मचारियों की हड़ताल जारी रहेगी। पटना विवि के कुलसचिव विभाष कुमार यादव ने बताया कि कर्मियों की जो आठ मांगे हैं उसमें से छह मांगों को हड़ताल समाप्त होते ही पूरा कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 1से बकाया आवसा भत्ता पर सहमती नहीं बन पाई। इसके लिए कर्मचारियों से एक सप्ताह का समय मांगा गया है।ड्ढr ड्ढr पटना विवि कर्मचारियों के बीच वार्ता को लेकर अटकले लगाई जाती रही। सभी कयास लगा रहे थे मांगे पूरी हो जाएगी पर विवि प्रशासन ने एक बार फिर कर्मियों को निरास कि या। इसके पहले भी कर्मियों की हड़ताल समाप्त कराने के लिए कमेटी का गठन किया था। संघ के महासचिव विनोद मिश्रा ने बताया कि हमारी मुख्य मांग आवास भत्ता है जब तक इसे पूरा नहीं किया जाएगा तो हड़ताल समाप्त नहीं होगी। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों की निलम्बन वापसी, प्रमोशन, अनुकंपा के आधार पर बहाली, सहित अन्य कुछ मांगों को मनाने के लिए कुलपति तैयार हैं लेकिन बकाये आवास भत्ता की मुगतान पर वार्ता के दौरान सहमति नहीं बनी। उन्होंने बताया कि इस बार आर-पार की लड़ाई होगी। कर्मचारियों की मांग जायज है। विवि में एक कर्मचारी दो कर्मियों का कार्य करते हैं। श्री मिश्रा ने कहा कि अगली वार्ता तक कर्मी हड़ताल पर रहेंगे। पटना विवि कर्मचारी संघ की ओर से वार्ता के लिए संघ के अध्यक्ष रामजतन सिन्हा, महासचिव विनोद मिश्रा, मुकुल कुमार, सुरेन्द्र सिंह, वसी आलम, दिलीप कुमार आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डीडीई के निदेशक बदले गए