DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुशर्रफ को अस्पताल में गिरफ्तारी वारंट सौंपा गया

मुशर्रफ को अस्पताल में गिरफ्तारी वारंट सौंपा गया

2007 में पाकिस्तान में आपातकाल लगाने के लिए घोर राष्ट्रद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ को मंगलवार को एक सैन्य अस्पताल में गिरफ्तारी वारंट दिया गया। राष्ट्रद्रोह मामले की सुनवाई कर रही विशेष अदालत ने बीते शुक्रवार को 70 साल के मुशर्रफ के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था।

यह एक जमानती वारंट है और 25 लाख पाकिस्तानी रुपये पर जमानत मिल जाएगी। अदालत ने इस्लामाबाद पुलिस को यह भी आदेश दिया था कि वह आगामी सात फरवरी को रिपोर्ट सौंपे। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार पुलिस ने कल अस्पताल में मुशर्रफ को गिरफ्तारी वारंट सौंपा। इससे पहले पुलिस को अस्पताल के रिसेप्शन पर ढाई घंटे इंतजार करना पड़ा।

मौके पर मौजूद मुशर्रफ के वकीलों ने 25 लाख रुपये के मुचलके से जुड़ा विवरण पुलिस को दिया। साल 2007 में राष्ट्रपति रहते हुए आपातकाल लगाने को लेकर मुशर्रफ के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मामला चलाया जा रहा है। सरकार ने इसके लिए एक विशेष अदालत का गठन किया है।

मामले की सुनवाई आरंभ होने के बाद से मुशर्रफ एक बार भी अदालत में पेश नहीं हुए। मुशर्रफ को हृदय संबंधी परेशानी के बाद रावलपिंडी के आम्र्ड फोर्सेज इंस्टीटयूट ऑफ कॉर्डियोलॉजी में भर्ती कराया गया था।

पाकिस्तान के इतिहास में यह पहली बार है कि एक पूर्व सैन्य शासक के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मामला चलाया जा रहा है। इस मामले में दोषी करार दिए जाने पर उन्हें उम्रकैद अथवा मौत की सजा हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुशर्रफ को अस्पताल में गिरफ्तारी वारंट सौंपा गया