DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऊर्जा के क्षेत्र में निजीकरण का विरोध किया जाएगा

उत्तर प्रदेश विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने चेतावनी दी है कि ऊर्जा के क्षेत्र में निजीकरण की किसी भी कोशिश का पुरजोर विरोध किया जायेगा। गाजियाबाद में पोंटी चड्ढा ग्रुप द्वारा विद्युत वितरण के लाइसेंस लेने की प्रक्रिया का विरोध करते हुये समिति ने विद्युत नियामक आयोग एवं प्रदेश सरकार से यह मांग की है कि किसी भी सूरत में बिजली के निजीकरण का लाइसेंस न दिया जाये अन्यथा प्रदेश के बिजलीकर्मी निर्णायक संघर्ष के लिये बाध्य होंगे।
       
विद्युत कर्मचारी संयुकत संघार्ष समिति उ.प्र. के  संयोजक शैलेन्द्र दुबे ने आज बताया कि एक ओर गाजियाबाद, मेरठ, वाराणसी एवं कानपुर के निजीकरण की प्रक्रिया पूरी करने के लिए सलाहकार की नियुक्ति की गई हैं तो दूसरी ओर अधिक राजस्व कमाने वाले बडे शहरों में निजी घारानों को विद्युत वितरण का लाइसेंस देने की गुपचुप कार्यवाही चल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऊर्जा के क्षेत्र में निजीकरण का विरोध किया जाएगा