अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी में फरचाी स्टांप पेपर का धंधा

तेलगी स्टापं घोटाले की तर्ज पर शनिवार को रांची पुलिस ने रांची में एक बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा किया। यहां कचहरी परिसर स्थित एक दुकान से नकली स्टांप पेपर छापनेवाले गिरोह के चार लोगों को पकड़ा गया। इनके पास से बड़ी संख्या में फर्जी कागजात, मुहर, कंप्यूटर और फोटोकॉपी मशीन जब्त की गयी। दुकान सील कर दी गयी है। यहां पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और वोटर आई कार्ड तक फर्जी बनाये जाते थे।ड्ढr सूत्रों के अनुसार डीसी अविनाश कुमार को शिकायत मिली थी और इसकी गंभीरता को देखते हुए उन्होंने एडीएम (लॉ एंड ऑर्डर) के रवि कुमार को इसमें लगाया। कचहरी परिसर में स्टांप वर्ल्ड नाम की छोटी-सी दुकान पर कुमार पुलिस बल के साथ पहुंचे। पुलिस को बाहर छोड़ ग्राहक की हैसियत से दुकान में घुसे। वहां उन्हें स्टांप पेपर-मुहर जहां-तहां पड़े मिले। कुमार के मुताबिक फर्जी वोटर आइकार्ड बनाते तो उन्होंने खुद अपनी आंखों से देखा। बड़ी संख्या में फराी दस्तावेज जब्त कि ये गये। कौशल किशोर, शिवनाथ चटर्ाी, मनीष कुमार और सुरंद्र कुमार को पकड़ा गया। इनसे पूछताछ की जा रही है। यहां से फराी स्टांप पेपर कंप्यूटर से निकाले जा रहे थे। चोरी की गाड़ियों के कागजात एवं फर्ाी ड्राइविंग लाइसेंस भी बनाये जाते थे।ड्ढr डीसी, डीडीसी, एसडीओ, एसी, एलआरडीसी, बीडीओ, सीओ एवं डीटीओ सभी के मुहर उपलब्ध थे। उन्होने सभी मुहर को जब्त कर लिया और कंप्यूटर की जांच की। जांच के क्रम में खुलासा हुआ कि अभियुक्त विष्टु प्रसाद बनर्जी और विष्णु भैया सीधे कंप्यूटर से फराी स्टाम्प पेपर प्रिंट कर बाजार में बेचा करते थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी में फरचाी स्टांप पेपर का धंधा