DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार ने ट्यूबवेल रखरखाव, मरम्मत शुल्क को समाप्त किया

किसानों को राहत देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने प्रदेश भर में सिंचाई के लिए लगाये गये ट्यूबवेल की मरम्मत और रखरखाव शुल्क को समाप्त कर दिया है।

प्रदेश के कांडी (उप पर्वतीय) क्षेत्र के शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) और भाजपा नेताओं और विधायकों के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने इस संदर्भ में फैसला लिया।     

कांडी क्षेत्र विशेषकर होशियारपुर, रूपनगर, एसएएस नगर (मोहाली), शहीद भगत सिंह नगर (नवांशहर) और पठानकोट जिले की लंबे समय से चली आ रही इस मांग से सहमत होते हुए बादल ने पंजाब जल संसाधन प्रबंधन एवं विकास निगम (पीडब्ल्यूआरएम एंड डीसी) द्वारा लगाये गये ट्यूबवेल पर इन शुल्कों को समाप्त कर दिया जो करीब 6.50 करोड़ रुपये तक बैठते हैं।

प्रदेश के सिंचाई मंत्री जनमेजा सिंह शेखों ने बादल को अगले सात वर्षों के लिए ट्यूबवेल के रखरखाव और परिचालन को सुनिश्चित करने के लिए अपने विभाग की पहल कदमी के बारे में अवगत कराया और कहा कि इस संदर्भ में आमंत्रित निविदा में इससे संबंधित शर्त को पहले ही शामिल किया गया है।

सरकार कांडी और गैरकांडी क्षेत्र में ट्यूबवेल के रखरखाव और परिचालन के लिए उपभोक्ताओं से 1 रुपये और 1.60 रुपये प्रति यूनिट का शुल्क लगाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार ने ट्यूबवेल रखरखाव, मरम्मत शुल्क को समाप्त किया