DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिंदास अभिनेत्री के रूप में पहचान बनाई उर्मिला ने

बिंदास अभिनेत्री के रूप में पहचान बनाई उर्मिला ने

बॉलीवुड में उर्मिला मतोड़कर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर गिना जाता है कि जिन्होंने अपने बोल्ड और बिंदास अभिनय से दर्शकों के बीच अपनी पहचान बनायी है।
       
4 फरवरी 1974 को मुंबई में जन्मी उर्मिला ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1981 में प्रदर्शित फिल्म 'कलयुग' से बतौर बाल कलाकार की। इसके बाद उन्हें शेखर कपूर की वर्ष 1983 में प्रदर्शित फिल्म 'मासूम' में काम करने का अवसर मिला। इस फिल्म में उन पर फिल्माया गीत 'लकड़ी की काठी, काठी पे घोड़ा' बच्चों के बीच आज भी लोकप्रिय है। इस बीच उर्मिला ने छोटे पर्दे के लिए कुछ सीरियलों में भी काम किया।
       
वर्ष 1989 में उर्मिला मतोड़कर को कमल हसन के साथ मलयालम फिल्म 'चाणकय' में काम करने का अवसर मिला। वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म 'नरसिम्हा' में अपने चुलबुले अंदाज से उन्होंने दर्शकों का दिल जीत लिया।
       
वर्ष 1995 में प्रदर्शित फिल्म 'रंगीला' उर्मिला मतोड़कर के करियर के लिए महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुई। राम गोपाल वर्मा के निर्देशन में बनी इस फिल्म में उन्होंने एक डांसर की भूमिका निभायी थी। इस फिल्म में उर्मिला मे अपोजिट आमिर खान थे। उर्मिला ने इस फिल्म में बोल्ड सीन कर दर्शकों को रोमांचित कर दिया। इस फिल्म के लिए वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित की गईं।

'रंगीला' की सफलता के बाद उर्मिला मतोड़कर ने राम गोपाल वर्मा की कई फिल्मों में काम किया। इनमें 'दौड़', 'सत्या', 'कौन', 'मस्त', 'भूत', 'प्यार तूने क्या किया', 'जंगल', 'एक हसीना थी' आदि शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंने राम गोपाल वर्मा की फिल्म 'कंपनी' और 'आग' में आइटम नंबर भी किया है।
       
वर्ष 1997 में प्रदर्शित फिल्म 'जुदाई' उर्मिला के करियर की एक और सुपरहिट फिल्म साबित हुई। अनिल कपूर और श्रीदेवी ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। फिल्म में उर्मिला का किरदार कुछ हद तक ग्रे शेड्स लिए हुए था। बावजूद इसके उन्होंने दर्शकों का दिल जीत लिया। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया।
       
वर्ष 1999 में प्रदर्शित फिल्म कौन और वर्ष 2001 में प्रदर्शित फिल्म 'प्यार तूने क्या किया' में उर्मिला का किरदार पूरी तरह से निगेटिव था। 'प्यार तूने क्या किया' के लिए वह सर्वश्रेष्ठ खलनायक के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित की गईं। वर्ष 2003 में प्रदर्शित फिल्म 'भूत' में अपने दमदार अभिनय के लिए उन्हें फिल्म फेयर की ओर से सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का क्रिटिक्स पुरस्कार दिया गया।
       
वर्ष 2008 में प्रदर्शित फिल्म 'कर्ज' में उर्मिला ने एक बार फिर सेनिगेटिव किरदार निभाया। इस फिल्म में उनका किरदार 80 के दशक में बनी फिल्म 'कर्ज' में सिम्मी ग्रेवाल के निभाए किरदार से प्रेरित था। उर्मिला मतोड़कर ने हिंदी फिल्मों के अलावा तमिल, तेलुगु और मलयालम फिल्मों में काम किया है। उर्मिला इन दिनों मराठी फिल्म 'अजूबा' में काम कर रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिंदास अभिनेत्री के रूप में पहचान बनाई उर्मिला ने