DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वसंत पंचमी आज, विधि-विधान से होगी पूजा

गोरखपुर। निज संवाददाता। वसंत पंचमी मंगलवार को है। धर्म ग्रंथों के अनुसार माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को यह पर्व मनाया जाता है। इस दिन माता सरस्वती का पूजन करने का विधान है। इस बार वसंत पंचमी पर पांच खास योग बन रहा है। कई वर्षो बाद वसंत पंचमी पर रवि योग, सिद्धि योग, शुभ योग, लक्ष्मी योग और सर्वार्थ सिद्धि योग का संयोग बन रहा है। इस दौरान गुप्त नवरात्रि भी रहेगी।

आचार्य पं. शरद चन्द्र मिश्र के मुताबिक इस दिन रवि योग भी रहेगा, जो विवाह खरीदारी और कोई भी शुभ कार्य की शुरूआत के लिए सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त है। वंसत पंचमी को लेकर स्कूलों में खास तैयारी की जा रही हैं। स्कूलों, कॉलेजों के अलावा घरो में भी विद्या की देवी की आराधना की तैयारी जोर-शोर से की जा रही है।

शहर में कई जगहों पर भक्त मॉ सरस्वती की प्रतिमा स्थापित कर पण्डाल भी सजा रहे हैं। वसंत पंचमी पर लोग पहनते हैं परम्परागत परिधानपौराणिक कथाओं की मानें तो इसी दिन शब्दों की शक्ति मनुष्य की झोली में आई थी।

इस दिन बच्चों को पहला अक्षर लिखना सिखाया जाता है। इस दिन पितृ-तर्पण किया जाता है। सबसे महत्वपूर्ण विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। इस दिन पहनावा भी होता है, पुरुष वर्ग कुर्ता-पैजामा या कुर्ता धोती पहनते है जबकि महिलाए पीले रंग का परिधान पहनती है।

जगह-जगह गायन-वादन सहित कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। ऐसे करे सरस्वती का पूजनमॉ के चरणों में गुलाब का पुष्प अर्पित कर पीले रंग का फल मलपुआ और खीर का भी भोग लगाकर हवन किया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वसंत पंचमी आज, विधि-विधान से होगी पूजा