DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान सरकार मंगलवार को करेगी तालिबान प्रतिनिधि के साथ बैठक

पाकिस्तान सरकार मंगलवार को करेगी तालिबान प्रतिनिधि के साथ बैठक

पाकिस्तान सरकार और प्रतिबंधित तालिबान की ओर से की शांति वार्ता के लिए गठित दोनों समितियां मंगलवार को पहली बार बैठक करेंगी। इस बीच पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता इमरान खान ने तालिबान की समिति का हिस्सा बनने से इंकार कर दिया।

इस घटनाक्रम से पहले प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बातचीत के जरिए आतंकवाद को खत्म करने की अपनी प्रतिबद्धता का संकेत दिया। अधिकारियों ने बताया कि दोनों पक्षों की समितियां मंगलवार को इस्लामाबाद में दिन में दो बजे मिलेंगे। इस बैठक में तालिबान के नेता भाग नहीं लेंगे।
कट्टरपंथी मौलवी सैमुल हक और वरिष्ठ पत्रकार इरफान सिद्दीकी के बीच फोन पर हुई बातचीत में बैठक का फैसला हुआ। हक तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) की समिति के सदस्य तथा सिद्दीकी सरकार की समिति के सदस्य हैं।

टीटीपी ने अपनी समिति में कट्टरपंथी मौलवी सैमुल हक, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान खान, लाल मस्जिद के मौलवी अब्दुल अजीज, जमात-ए-इस्लामी के नेता मुहम्मद इब्राहीम और जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम-एफ के नेता किफायतुल्ला के नाम प्रस्तावित किए थे।

तहरीक-ए-इंसाफ के शीर्ष नेतृत्व ने सोमवार को फैसला किया कि इमरान खान तालिबान की समिति में शामिल नहीं होंगे, हालांकि पार्टी ने तालिबान की ओर से जताए गए भरोसे की सराहना की। जमीयत-उलेमा-इस्लाम-एफ के प्रमुख फजलुर रहमान ने ऐलान किया कि उनकी पार्टी सरकार द्वारा शुरू की गई शांति प्रक्रिया का हिस्सा नहीं बनेगी। रहमान ने कहा कि तालिबान की समिति में नामित मुफ्ती किफायतुल्ला पार्टी के फैसले को स्वीकार करने को बाध्य हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तान सरकार मंगलवार को करेगी तालिबान प्रतिनिधि के साथ बैठक