DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली लोकपाल को मंत्रिमंडल की मंजूरी

दिल्ली लोकपाल को मंत्रिमंडल की मंजूरी

दिल्ली मंत्निमंडल ने सोमवार को लोकपाल विधेयक को मंजूरी दे दी जिसमें लोकपाल को मुख्यमंत्नी के खिलाफ जांच करने का अधिकार दिया गया है। दिल्ली के शिक्षा मंत्नी मनीष सिसोदिया ने संवाददाताओं को बताया कि लोकपाल विधेयक को मंत्निमंडल की मंजूरी मिल गई है। इसे 13 से 16 फरवरी को दिल्ली विधानसभा के बुलाए गए विशेष सत्न में पारित किया जाएगा।
 
सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली लोकपाल का कार्यकाल सात वर्ष का होगा तथा यह मुख्यमंत्नी से लेकर चपरासी तक किसी के विरुद्ध भी जांच कर सकेगा। कहीं से भी शिकायत मिलने पर लोकपाल उस मामले की जांच कर सकेगा। मुख्यमंत्नी के विरुद्ध शिकायत के लिए उसे किसी खास तरीके की जरूरत नहीं होगी।

मुख्यमंत्नी अरविंद केजरीवाल ने टि्वटर पर दिल्ली की जनता को बधाई देते हुए कहा कि लोकपाल विधेयक मंत्निमंडल में पारित हो गया है। सिसोदिया ने बताया कि जनलोकपाल दस सदस्यीय होगा और सरकार का इस पर कोई नियंत्नण नहीं होगा।
 
उन्होंने कहा कि इस विधेयक का मकसद किसी भ्रष्टचारी को बख्शा नहीं जाना है। उन्होंने बताया कि इसके तहत त्वरित और निश्चित कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। जन लोकपाल की चयन समिति सात सदस्यीय होगी। समिति के सदस्यों में मुख्यमंत्नी और दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता होंगे।
 
आम आदमी पार्टी (आप) के चुनाव घोषणापत्न में जनलोकपाल का गठन एक मुख्य वादा था। पहले आप ने सरकार बनने पर 29 दिसम्बर को रामलीला मैदान में इसके गठन की घोषणा की थी। अब 16 फरवरी को इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में गठन की घोषणा की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली लोकपाल को मंत्रिमंडल की मंजूरी