DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्वोत्तर के लोगों पर हमले: गृह मंत्रालय का सख्त रुख

पूर्वोत्तर के लोगों पर हमले: गृह मंत्रालय का सख्त रुख

केन्द्र ने सोमवार को दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया कि वह पूर्वोत्तर के लोगों पर हमले के मामलों में जरा भी बर्दाश्त नहीं करने का रुख अपनाये। साथ ही कहा कि पूर्वोत्तर के लोगों को सुरक्षा मुहैया कराने में दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाए।

एक उच्चस्तरीय बैठक में गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से कहा कि वह पूर्वोत्तर क्षेत्र के लोगों पर होने वाले किसी भी अत्याचार के मामले तत्काल दर्ज करे और शिकायत मिलने पर तुरंत जांच करे तथा दोषियों को दंडित करे।

दिल्ली पुलिस से यह भी कहा गया है कि वह अपने सभी थानों को पूर्वोत्तर के लोगों के प्रति संवेदनशीलता बरतने को कहे और उनकी शिकायतों को दूर करें। ये निर्देश राष्ट्रीय राजधानी में हाल ही में पूर्वोत्तर के लोगों पर लगातार हुए हमलों के परिप्रेक्ष्य में आया है। लाजपत नगर में पिछले दिनों अरुणाचल प्रदेश के एक छात्र पर कथित रूप से कुछ लोगों ने हमला किया और बाद में उसकी मौत हो गयी।

गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को पिछले साल इस संबंध में जारी चार पृष्ठों के दिशानिर्देश की याद दिलायी और कहा कि इसका कड़ाई से पालन किया जाए।

राज्यों के मुख्य सचिवों, पुलिस महानिदेशकों और दिल्ली के पुलिस आयुक्त को जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप पुलिस बलों को उन जगहों पर सुरक्षा बढ़ानी चाहिए, जहां पूर्वोत्तर के लोग पढ़ते हैं, कार्य करते हैं या रहते हैं। अति संवेदनशील इलाकों में भी ऐसा करना चाहिए। सांप्रदायिक तनाव भड़काने के उद्देश्य से अफवाहें फैलाने की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

संदिग्ध ई—मेल का पता लगाने के लिए सोशल नेटवकिग साइटों की निगरानी, पूर्वोत्तर की जनता के मूड का आकलन करने और नियमित आधार पर उनकी शिकायतें जानने का जिक्र भी दिशानिर्देशों में है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्वोत्तर के लोगों पर हमले: गृह मंत्रालय का सख्त रुख