DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड की जेलों में कैदियों की हड़ताल

झारखंड की अलग-अलग जेलों में रिहाई की मांग को लेकर एक हजार से ज्यादा कैदियों ने सोमवार को हड़ताल कर कर दी। इनमें से कुछ कैदी भूख हड़ताल पर हैं।

जय प्रकाश नारायण केंद्रीय कारागार में लगभग 700 कैदी और गढ़वा काराकार में 200 और मेदिनीनगर में 120 कैदी हड़ताल पर हैं।

कैदियों का कहना है कि उन्होंने अपनी सजा पूरी कर ली है और 20 साल से ज्यादा काम किया है। इनमें से ज्यादातर कैदी आजीवन कारावास की सजा पाए हुए हैं।

करागार महानिरीक्षक शैलेंद्र भूषण ने बताया, ''ऐसे मामलों पर विचार के लिए यहां मुख्यमंत्री की अध्यक्षता वाली एक राज्य स्तरीय समिति है। पिछले कुछ वर्षों से इस समिति की बैठक नहीं हुई है, इसलिए मामले लंबित हैं।''

उन्होंने बताया, ''राज्य स्तरीय समिति यदि फैसला लेती है तो आजीवन कारावास पाए कैदी को रिहा किया जा सकता है। आजीवन कारावास पाने वाले कैदियों की रिहाई में अदालत की सलाह भी जरूरी है।'' भूषण ने कहा, ''कैदियों की रिहाई के मामले में हम जल्द ही अनुवीक्षण समिति की बैठक करेंगे, समिति का सलाहकार हमारे पास आ चुका है।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झारखंड की जेलों में कैदियों की हड़ताल