DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिन्नी की बगावत से संकट में सरकार, मुश्किल में आप

बिन्नी की बगावत से संकट में सरकार, मुश्किल में आप

कम से कम पांच विधायकों के समर्थन का दावा करते हुए आप के निष्कासित विधायक विनोद कुमार बिन्नी ने कहा है कि अगर उनकी मांगें 48 घंटे के अंदर नहीं मांगी गईं, तो केजरीवाल सरकार को गिरा दिया जाएगा।
 
जदयू के विधायक शोएब इकबाल और निर्दलीय विधायक रामबीर शौकीन के साथ बिन्नी ने कहा कि मैं शोएब इकबाल और रामबीर के साथ उप राज्यपाल नजीब जंग से मुलाकात करूंगा और अगर हमारी मांगें 48 घंटे के अंदर नहीं मांगी गईं, तो समर्थन वापस ले लूंगा।

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बिन्नी ने कहा कि वह आप के दो अन्य विधायकों एवं निगम पार्षदों के साथ राजनीतिक मोर्चा बनाएंगे। उन्होंने इन विधायकों एवं पार्षदों के संपर्क में होने का दावा किया। बिन्नी को अनुशासनहीन होने के लिए आप ने निष्कासित कर दिया है। उन्होंने विधानसभा चुनावों से पहले किए गए वादों को पूरा करने सहित कई मांगें रखी हैं।

उन्होंने सरकार से बिजली और पानी से संबंधित मुद्दों का समाधान करने को कहा। उन्होंने मांग की कि सरकार को बिजली दरों में आठ फीसदी की बढ़ोतरी पर सब्सिडी देनी चाहिए। डीईआरसी ने इस महीने से बिजली दरों में 6 से 8 फीसदी की बढ़ोतरी की है।

उन्होंने कहा कि सरकार को वादे के मुताबिक महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला दस्ते का गठन करना चाहिए। 700 लीटर से ज्यादा पानी का इस्तेमाल करने पर पूरे पानी का बिल वसूलने के बजाए 700 लीटर से जितना ज्यादा पानी इस्तेमाल हुआ उसी का बिल वसूला जाना चाहिए।

उन्होंने आप सरकार को उसका वादा याद दिलाया कि केजरीवाल के प्रदर्शन के दौरान जिन एक लाख पांच हजार 200 लोगों ने बढ़े हुए बिजली बिल का भुगतान नहीं किया था, उनके बिल को माफ किया जाना चाहिए। बिन्नी ने कहा कि सरकार को पहले उनके बिल को माफ करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिन्नी की बगावत से संकट में सरकार, मुश्किल में आप