DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 को चक्का जाम की तैयारी में किसान

ग्रेटर नोएडा। अपनी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट में महापड़ाव पर बैठे किसानों की प्रशासन ने शासन से वार्ता नहीं कराई है, जिसके चलते किसानों ने 5 फरवरी को शहर में चक्का जाम की चेतावनी दी है। किसान तैयारी में जुटे गए हैं। गांव-गांव जाकर लोगों से समर्थन की अपील कर रहे हैं। किसानों को आरोप है कि महापड़ाव पर एक महीने से ज्यादा समय बित गया है, जबकि प्रशासनिक अधिकारियों ने एक सप्ताह में शासन से वार्ता का आश्वासन दिया था।

लेकिन अभी तक प्रशासन की तरफ से किसानों को शासत स्तर पर वार्ता के लिए नहीं बुलाया गया है। जिससे नाराज किसान 5 फरवरी को चक्का जाम की तैयारी में जुट गए हैं। रविवार को महापड़ाव पर बैठे किसानों के समर्थन में वकील पर दूसरे दिन भी धरने पर रहे। इस मौके पर सुनील फौजी, राजेश फौजी, सरदार सिंह, श्यामलाल मुखिया, महेंद्र भाटी, विजय भाटी, सरेंद्र भाटी, सोबिंद्र भाटी आदि किसान मौजूद थे। 6 फरवरी को प्राधिकरण कार्यालय का घेराव करेंगे किसान ग्रेटर नोएडा।

दस प्रतशि भूखंड की मांग को लेकर रविवार को किसान संघर्ष समिति की गांव खेरपुर में पंचायत हुई। पंचायत में 6 फरवरी को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के घेराव का फैसला लिया गया। सतवीर प्रधान ने कहा कि प्राधिकरण अफसरों ने चार माह पूर्व दस प्रतिशत भूखंड़ देने के लिए किसानों को आश्वासन दिया था। लेकिन प्राधिकरण के अधिकारी अपनी बातों से मुकर रहे हैं। इसके विरोध में किसान 6 फरवरी को प्राधिकरण कार्यालय का घेराव करेंगे। पंचायत में सुरेंद्र प्रधान, मनवीर भाटी, जगदीश खारी, सोरण शर्मा, कालू खारी आदि किसान मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:5 को चक्का जाम की तैयारी में किसान