DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लूटपाट से पहले ही दबोच लिए बदमाश

देहरादून। वरिष्ठ संवाददाता। सहसपुर पुलिस ने पांच शातिर बदमाश वारदात से पहले ही धर लिए। बदमाश पांवटा साहबि के राजगढ़ स्थित जैन मंदिर में डकैती की योजना बना रहे थे। दो बदमाश मंदिर की रैकी भी कर आए थे। तीन बदमाशों पर पहले से ही हत्या और लूट डकैती के संगीन मुकदमे दर्ज हैं।

एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने पुलिस ऑफिस पत्रकारों से बातचीत में बताया कि सीओ विकासनगर स्वपन किशोर सिंह के निर्देशन में एसओ प्रदीप राणा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया। मारुती जेन कार लेकर लखनवाला चौक के पास जमनीपुर के एक बगीचे में पांच बदमाश खड़े थे, जो मंदिर में डकैती के बारे में योजना बना रहे थे। पुलिस ने घेराबंदी कर पांचों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। जिनसे चार तमंचे, छह जिंदा कारतूस और दो खुखरी बरामद हुई।

एसपी देहात ने बताया कि बरोटीवाला निवासी रणजीत राणा और धर्मावाला निवासी जशिान एक दिन पहले मंदिर की रैकी कर आए थे। मंदिर में 18 किलो सोने की मूर्ति है। बदमाशों की योजना थी कि अगर पुजारी ने ज्यादा विरोध किया तो वह उसकी हत्या भी कर देंगे। रणजीत राणा पर फिरौती सहित हत्याओं के मुकदमे सहसपुर और विकासनगर में चल रहे हैं। जबकि जशिान पर भी विकासनगर में सात मुकदमे दर्ज हैं। छरबा निवासी शहजाद पर भी सहसपुर थाने में मुकदमा दर्ज है।

जबकि जमनीपुर निवासी सुरेश कुमार और छरबा निवासी जावेद उर्फ सोनू पहली बार गिरोह में शामिल हुए थे। पुलिस टीम में एसओ राणा के अलावा झाझरा चौकी इंचार्ज विपिन बहुगुणा, सेलाकुई चौकी इंचार्ज पीडी भट्ट, धर्मावाला चौकी इंचार्ज संजीव थपलियाल, दारोगा प्रमोद शाह, धनराज बिष्ट, कांस्टेबल गीतम सिंह, अब्बल सिंह, अमित, नितिन शामिल थे। जिन्हें एसएसपी ने ढाई हजार का इनाम दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लूटपाट से पहले ही दबोच लिए बदमाश